पत्नी के चरित्र पर था संदेह गला घोंटकर कर दी हत्या

0

इंदौर :पति पत्नी के रिश्ते की डोर एक विस्वास पर बंधी होती है और जब इनके बीच अविश्वास हो जाता है तो परिवार में तनाव बढ़ जाता है ऐसे ही पति पत्नी के बीच चरित्र सन्देह की दीवार ऐसी खड़ी हो गई की युवक ने पत्नी की हत्या कर दी पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक युवक ने पत्नी पर चरित्र शंका के चलते अपनी पत्नी की गला घोटकर हत्या कर दी अब आरोपी पति पुलिस गिरफ्त में है दिनांक 17 दिसंबर 2019 रात्रि करीब 1:30 से 2:00 के मध्य थाने पर सूचना प्राप्त हुई की सूरज नगर खजराना इंदौर तेजू पांचाल के मकान में *मंजू पति विक्रम खेलवाल उम्र 22 साल निवासी 63/2,सूरज नगर खजराना इंदौर* की मृत अवस्था मे हैं। सूचना पर थाना से फ़ोर्स रवाना हुआ तथा मृतिका मंजू के भाई संदीप पिता गंगाधर सूर्यवंशी उम्र 19 साल निवासी 93/4 सूरज नगर खजराना इंदौर की देहाती नालसी की उसकी बहन मंजू उसके पति विक्रम व बच्चे के साथ सूरज नगर में किराए से निवास करती है। उसका जीजा विक्रम कुछ काम नहीं करता है उसकी बहन मंजू अपनी मम्मी,पापा के साथ ओ.टू. में खाना बनाने का काम करती है। जीजा काम ना करने की बात को लेकर बहन मंजू के साथ कई बार मारपीट व विवाद करता था। उसके माता पिता ने भी उसे कई बार समझाया आज भी विवाद होने पर उसके माता पिता बहन मंजू के घर गए तथा उसे समझाया कि वह होटल या अन्य जगह काम करले कब तक घर बैठा रहेगा समझा कर वापस घर आ गए। रात करीब 12/00- 12:30 सोते समय उसे याद आया कि उसका पर्स बहन मंजू के घर भी छूट गया, तब वह पर्स लेने मंजू के घर गया तो कमरे के दरवाजे पर जीजा विक्रम घबराया खड़ा दिखा तथा उसे देखकर नीचे तरफ भागा, उसके द्वारा पूछने पर कि क्या हुआ तब बिना कुछ बोले ही भाग गया। कमरे के अंदर जाकर देखा तो बहन मंजू जमीन पर पड़ी थी तथा उसका गला गमछे से कसा था, जिससे वह मर चुकी थी। उक्त सूचना पर अपराध धारा 302 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध किया गया।

चरित्र सन्देह पर कर दी हत्या

वहीँ पुलिस को जानकारी लगी की प्रकरण में आरोपी विक्रम पिता मोतीलाल खेलवाल उम्र 25 साल निवासी सूरज नगर खजराना भागने की फिराक में है मुखबिर सूचना पर पहुँची पुलिस ने रेडीसन चौराहा पुलिस टीम द्वारा घेराबन्दी कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया।आरोपी से पूछताछ पर बताया कि वह 10 वी तक पढ़ा लिखा है तथा ग्राम फरण थाना कालापीपल जिला शाजापुर का मूल निवासी है। उसकी शादी को तीन साल से अधिक समय हो गया हैं तथा वह शादी के बाद से परिवार के साथ काम की तलाश में इंदौर आया तथा मजदूर चौराहे से छुट्टी मजदूरी करता है। उसे शंका थी कि उसकी पत्नी का किसी अन्य के साथ चक्कर हैं, जिसके चलते उसके द्वारा उसे गले घोंट कर मर दिया।*

उक्त कार्रवाई में वरिष्ठ अधिकारीगण के निर्देशन में थाना प्रभारी खजराना प्रीतम सिंह ठाकुर, उपनिरीक्षक शिव कुमार मिश्रा, आरक्षक राहुल तथा आरक्षक संजू सिकरवार की सराहनीय भूमिका रही।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x