नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता में साइंस कॉलेज प्रथम स्थान पर

0


जबलपुर,मिलावट खोरों पर नकेल कसने जिला प्रशासन का काम तेजी से चालू है ,जिसके चलते  खाद्य पदार्थों में “शुद्ध के लिए युद्ध” अभियान के तहत मंगलवार के दिन शासकीय महाकौशल कला एवं वाणिज्य स्वशासी महाविद्यालय में खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने में आमजन की भागीदारी विषय पर जिला स्तरीय अंतर महाविद्यालयीन नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता में विभिन्न महाविद्यालयों से बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने भाग लिया ।
अपर कलेक्टर संदीप जीआर के मुख्य आतिथ्य में आयोजित इस प्रतियोगिता में एसडीएम गोरखपुर आशीष पाण्डे, शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. ए.एल. महोबिया, शासकीय महाकौशल कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. आभा पाण्डे, खाद्य सुरक्षा अधिकारी सारिका दीक्षित एवं माधुरी मिश्रा मौजूद रहे । निर्णायकों के रूप में सामाजिक कार्यकर्त्ता श्री प्रदीप गुप्ता एवं डॉ. आर.के. श्रीवास्तव प्राध्यापक शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय तथा डॉ. देवांशु गौतम, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर थे ।
प्रतियोगिता की समन्वयक डॉ. रश्मि टंडन के अनुसार प्रतियोगिता में महाविद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर को प्राप्त हुआ ।  जबकि द्वितीय स्थान पर माता गुजरी महिला महाविद्यालय एवं तृतीय स्थान पर होम साइंस महिला महाविद्यालय जबलपुर रहे । इस अवसर पर अरूण कुमार लोधी रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय समाज कार्य विभाग की एकल विशिष्ट प्रस्तुति सराही गई ।


महाविद्यालय स्तर पर (भाषण प्रतियोगिता) में प्रथम स्थान श्री प्रभात शर्मा बी.ए. द्वितीय वर्ष शासकीय महाकौशल महाविद्यालय जबलपुर एवं आकृति सक्सेना शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर, द्वितीय स्थान सुश्री श्रुति झा एम.एस.सी. तृतीय सेमेस्टर होम साइंस कॉलेज जबलपुर, तृतीय स्थान वसुन्धरा सिंह बी.एस.सी. होम साइंस कॉलेज जबलपुर को प्राप्त हुआ ।
शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आयोजित प्रतियोगिताओं में विद्यालय स्तर की निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान सत्यवीर सिंह लोधी शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल कैमोरी, द्वितीय स्थान नमन यादव सेंट जेवियर्स हायर सेकेण्डरी स्कूल शांतिनगर, तृतीय स्थान मान्या साहू पंड़ित लज्जाशंकर झा मॉडल हायर सेकेण्डरी स्कूल को प्राप्त हुआ ।
कार्यक्रम की सफलता में डॉ. नीता गुप्ता, डॉ. पुष्पा तनेजा, डॉ. शैलप्रभा कोष्टा, डॉ. विभा निगम, डॉ. तृप्ति उकास, डॉ. रचना सांचा, डॉ. डी.के. कोष्टा, डॉ. श्रद्धा कनौजिया, डॉ. नारायण उप्रेलिया, डॉ. इबादत अंसारी, डॉ. दिवाकर तिवारी का महत्वपूर्ण योगदान रहा ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x