दुर्गोत्सव, दशहरा एवं दीपावली पर व्यवस्थाओं को लेकर शांति समिति की बैठक संपन्न

0

जबलपुर :दुर्गोत्सव, दशहरा और दीपावली के त्यौहार के मद्देनजर आज आयोजित शांति समिति की बैठक में इन त्यौहारों को शहर की गौरवशाली परंपरा के अनुसार आपसी भाइचारे और उत्साह से मनाने की अपील नागरिकों से की गई है । कलेक्टर भरत यादव की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में विधायक विनय सक्सेना, विधायक संजय यादव एवं पुलिस अधीक्षक अमित सिंह भी मौजूद थे ।कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न हुई इस बैठक में जहां दुर्गोत्सव और दशहरा के दौरान सुरक्षा, साफ-सफाई, प्रकाश एवं पेयजल के समुचित इंतजाम सुनिश्चित किये जाने के सुझाव समिति के सदस्यों द्वारा दिये गये वहीं बारिश से खराब हुई सड़कों की मरम्मत का काम शीघ्र पूरा कराने पर सर्वाधिक जोर दिया गया ।
बैठक में दुर्गा पंडालों और विसर्जन स्थलों पर सुरक्षा इंतजामों को लेकर भी सदस्यों ने कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये । भोपाल में गणेश प्रतिमा के विसर्जन के दौरान हुए हादसे का जिक्र करते हुए कलेक्टर श्री यादव ने दुर्गोत्सव समितियों से निर्धारित विसर्जन स्थलों पर ही प्रतिमाओं का विसर्जन करने का आग्रह किया । उन्होंने कहा कि शहर और ग्रामीण क्षेत्र में रखी जाने वाली दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए संबंधित दुर्गोत्सव समितियों को प्रतिमाओं के विसर्जन के कार्यक्रम और स्थान की पूर्व सूचना संबंधित पुलिस थानों को देना होगी ताकि विसर्जन स्थलों पर सभी जरूरी इंतजाम सुनिश्चित किये जा सकें ।
कलेक्टर ने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए नावों पर सवार होने की अनुमति प्रशिक्षित अमले के अलावा अन्य किसी को नहीं होगी । श्री यादव ने कहा कि तीन फिट से अधिक ऊंची प्रतिमाओं का विसर्जन क्रेन से ही किया जायेगा । विसर्जन स्थलों पर क्रेन की व्यवस्था नगर निगम द्वारा की जायेगी । उन्होंने बरगी बांध की नहरों और प्राकृतिक जल स्त्रोतों में प्रतिमाओं का विसर्जन न करने का आग्रह दुर्गोत्सव समितियों से किया । श्री यादव ने बैठक में दुर्गा उत्सव समितियों से प्रतिमाओं की ऊंचाई कम रखने का अनुरोध भी किया । उन्होंने कहा कि इस बार चूंकि प्रतिमाओं का निर्माण हो चुका है । अत: प्रतिमाओं की ऊंचाई के बारे में कोई भी निर्णय अगले वर्ष ही लिया जायेगा ।
बैठक में दुर्गोत्सव समितियों से कहा गया है कि उन्हें पंडालों के सुरक्षित निर्माण पर विशेष ध्यान देना होगा । इसके साथ ही विद्युत साज-सज्जा में भी पूरी सावधानी बरतनी होगी। पंडालों के सुरक्षित निर्माण और सुरक्षित विद्युत वायरिंग के बारे में दुर्गोत्सव समितियों से स्व-प्रमाणित घोषणा पत्र लेने का फैसला भी बैठक में लिया गया । समितियों से कहा गया कि अस्थाई विद्युत कनेक्शन के लिए समय रहते आवेदन करें और अस्थाई कनेक्शन के बाद ही पंडालों की विद्युत साज-सज्जा करें । विद्युत विभाग के अधिकारियों को भी त्यौहारों के दौरान बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये ।
बैठक में दशहरा चल समारोह में निकाली जाने वाली दुर्गा प्रतिमाओं एवं झांकियों को अधिक ऊंचाई वाले वाहनों ट्राला पर रखने का आग्रह भी दुर्गोत्सव समितियों से किया गया । इस मौके पर नगर निगम एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों से भी कहा गया कि ऐसे स्थान चिन्हित कर लें और अपना-अपना अमला वहां तैनात करें जहां विद्युत तार एवं सर्विस लाइन काफी नीचे है ताकि चल समारोह के दौरान कठिनाई न हो तथा प्रतिमायें एवं झांकियां सुरक्षित रूप से निकाली जा सकें ।
बैठक में भंडारों के आयोजन को लेकर भी विस्तार से विचार-विमर्श हुआ । इस बारे में तय किया गया कि भंडारों के आयोजन की अनुमति ऐसे स्थानों पर ही दी जाये जिससे यातायात में बाधा पैदा न हो । इसके लिए भंडारे का आयोजन करने वाली संस्थाओं की थाना स्तर पर बैठकें बुलाने का फैसला भी लिया गया । दुर्गोत्सव, दशहरा चल समारोह एवं दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान डीजे के इस्तेमाल पर सख्ती से रोक लगाने का निर्णय लिया गया । समिति के सदस्यों के सुझाव पर कलेक्टर श्री यादव ने गणेश उत्सव एवं मुहर्रम के दौरान प्रतिबंध का उल्लंघन करने वाले सभी डीजे संचालकों पर कार्यवाही के निर्देश अधिकारियों को दिये । उन्होंने डीजे संचालकों पर वाउण्ड ओव्हर की कार्यवाही करने के निर्देश भी बैठक में दिये । श्री यादव ने प्रतिबंध का उल्लंघन करने वाले डीजे संचालकों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने के निर्देश भी दिये । उन्होंने शांति समिति और समाज के जिम्मेदार नागरिकों से प्रतिबंध का उल्लंघन करने वाले डीजे संचालकों के विरूद्ध कार्यवाही में आगे बढ़कर सहयोग देने का आग्रह भी किया ।
बैठक में दुर्गोत्सव के दौरान सभी धार्मिक स्थलों और संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा के समुचित इंतजाम करने पर भी जोर दिया गया । इसके साथ ही चल समारोह वाले मार्गों पर प्रकाश, साफ-सफाई, चलित शौचालय, एम्बुलेंस एवं फायर ब्रिगेड की तैनाती के निर्देश भी दिये गये । दुर्गा नवमी के दौरान सुबह-सुबह जल चढ़ाने जाने वाली महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी पर्याप्त संख्या में मंदिरों के आसपास महिला सुरक्षा कर्मियों को तैनात करने की आवश्यकता बताई गई ।
विधायक श्री विनय सक्सेना ने बैठक में त्यौहारों के पूर्व सड़कों की मरम्मत पर जोर देते हुए कहा कि जो सड़कें गारंटी पीरियड के भीतर हैं उन सड़कों की मरम्मत के लिए संबंधित ठेकेदारों को पाबंद किया जाये । उन्होंने कहा कि यदि ठेकेदार अनुबंध की शर्तों के मुताबिक अपनी यह जिम्मेदारी नहीं निभाते हैं तो उनके विरूद्ध प्रकरण दर्ज किये जायें । श्री सक्सेना ने दुर्गोत्सव समितियों एवं दशहरा चल समारोह समितियों की क्षेत्रीय स्तर पर अलग से बैठक बुलाने का सुझाव भी दिया । उन्होंने कहा कि बैठकों में इन समितियों से व्यवस्थाओं के बारे में सुझाव प्राप्त किये जायें और उन पर अमल किया जाये । श्री सक्सेना ने दुर्गोत्सव के दौरान नो एंट्री का भी सख्ती से पालन कराने की बात भी बैठक में कही ।
विधायक श्री संजय यादव ने बैठक में शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी विसर्जन स्थल पर पर्याप्त व्यवस्थायें सुनिश्चित किये जाने का सुझाव दिया । उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में थाना स्तर पर दुर्गोत्सव समितियों की बैठक बुलाकर उनसे प्रतिमाओं के विसर्जन की सूचनाएं प्राप्त करने की बात कही । श्री यादव ने शहरी क्षेत्र में दुर्गोत्सव के दौरान होटल, रेस्टारेंट के सामने वाहनों के खड़े होने पर सख्ती से रोक लगाने का सुझाव भी दिया । इसके साथ ही उन्होंने सार्वजनिक स्थानों पर चौपहिया वाहन खड़े कर शराब पीने वाले तत्वों पर भी कठोर कार्यवाही करने की मांग प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों से की ।
बैठक में रद्दी चौकी से सिंधी केम्प तक सड़कों पर हुए अतिक्रमणों को सख्ती से हटाने की मांग शांति समिति के सदस्यों द्वारा की गई । इसके साथ ही इंदौर की तर्ज पर दशहरा जुलूस के समापन के फौरन बाद सड़कों की साफ-सफाई करने का सुझाव भी दिया गया । नौ दुर्गा के दौरान सड़कों पर खुले में मांस का विक्रय रोकने तथा मिलौनीगंज से बहोराबाग तक ऑटो रिक्शा के संचालन पर रोक लगाने की मांग भी बैठक में की गई ।
बैठक में पूर्व मंत्री कौशल्या गोंटिया, भूरे पहलवान, अनिल तिवारी, शरद काबरा, मकबूल अहमद रजवी, शरण चौधरी, मुकेश राठौर, अजय रावत, रवीन्द्र श्रीवास्तव, साबिर उस्मानी, ताहिर अली, सुरेश सराफ, प्रहलाद श्रीवास्तव, प्यारे साहब, राकेश श्रीवास्तव, अपर कलेक्टर संदीप जी आर, हर्ष दीक्षित एवं व्ही.पी. द्विवेदी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश त्रिपाठी एवं अमृत मीणा, अतिरिक्त आयुक्त नगर निगम टी.एस. कूमरे भी मौजूद थे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x