दशरमन भागवत कथा में श्रीकृष्ण का हुआ प्राकट्य

0

(मनोज यादव )

ढीमरखेड़ा- भारतवर्ष के धार्मिक ग्रंथों अनुसार कलयुग में ग्रंथ एवं कथाओं के श्रवण मात्र से ही समस्त पापों का नाश हो जाता है जिसमें श्रीमद् भागवत कथा के श्रवण करने से लोगों के मन एवं विचारों में परिवर्तन के साथ साथ पुण्य लाभ होता है वही ग्राम दशरमन के शंकर चौक में से चल रही श्रीमद्भागवत कथा आज कथा के चौथे दिन पौराणिक पंडित आकाश तिवारी जी द्वारा भगवान श्री कृष्ण के प्राकट्य की कथा सुनाते हुए बताया कि जब भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ तब संसार के समस्त देवी देवताओं भगवान श्री कृष्ण के दर्शन के लिए लालायित हो गए और भगवान श्री कृष्ण के जन्म पर ही स्वयं भगवान भोलेनाथ श्री कृष्ण के दर्शन करने अपना स्वरूप बदलकर पहुंचे और नंदलाला के यहां भगवान श्री कृष्ण होते ही चारों तरफ उजाला हो गया नंद के आनंद भयो के जयकारे लगने लगे कार्यक्रम में संगीत मंडली द्वारा प्रसिद्ध गीत यशोदा के लल्ला हो गयो, जनम भयो रघुरईया अवध में नाचे यशोदा मईया, भए प्रगट कृपाला दीन दयाला जैसे गीतों से सारा गांव भक्ति में रस में डूबा रहा कार्यक्रम में पंडित रमेश गर्ग राजेंद्र तिवारी जय कुमार पटेल अतुल साकेत गर्ग आशीष गर्ग सुरेंद्र सिंह तिवारी शैलेंद्र पांडे श्याम शरण जी रंजीत जी गोलू जी उज्जवल जी नीलेश सोनी सत्यपाल सिंह आशीष पटेल परदेसी पटेल भागवत पटेल आदि लोग उपस्थित रहे

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x