तीन दिन की बारिश से जबलपुर हुआ पानी -पानी खोलने पड़े बरगी बांध के गेट

0

जबलपुर : मध्यप्रदेश में मौषम ने कुछ ऐसी करवट ली की हाल ही के तीन दिन भारी पड़ गए जब जबलपुर जिले में भारी बारिश के चलते कहीँ पर पुल बह गया तो कहीँ पर मकान ढहने लगे आपको बता दें की पूर्वी मध्य प्रदेश के जिलों जबलपुर, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, डिंडोरी में पिछले तीन दिनों से बारिश का असर नर्मदा नदी पर पड़ा है. बरगी बांध के जल भराव वाले इन जिलों में हुई बारिश से बरगी बांध में तेजी से पानी की आवक हो रही थी, जिसे नियंत्रित करने के लिए बरगी बांंध प्रशासन ने शुक्रवार 9 अगस्त की दोपहर 12 बजे बांध के 15 गेटों को औसतन 1. 46 मीटर तक खोल दिये गये. जिससे नर्मदा नदी में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है. ग्वारीघाट सहित तमाम तट पूरी तरह डूब चुके हैं.बरगी जलाशय के जलस्तर को नियंत्रित करने शुक्रवार 9 अगस्त की दोपहर 12 बजे इसके 21 में से 15 स्पिल-वे गेट औसतन 1.46 मीटर तक खोल दिये गए हैं और इनसे 3 हजार 265 क्युमेक पानी की निकासी की जा रही है. बांध के गेट खोलते समय इसका जलस्तर 421.60 मीटर रिकार्ड किया गया था और औसतन 4 हजार क्युमेक पानी इसमें प्रवेश कर रहा था.बरगी बांध का पूर्ण जलभराव स्तर 422.76 मीटर है. बांध के गेट शुक्रवार की दोपहर 2 बजे खोले जाने थे, लेकिन तेजी से बढ़ रहे जलस्तर को देखते हुए दोपहर 12 बजे ही इन्हें खोलने का निर्णय बांध प्रशासन को लेना पड़ा. बांध के पांच गेट दो मीटर, चार गेट डेढ़ मीटर और छह गेट एक मीटर की ऊंचाई तक खोले गए हैं. स्पिल-वे गेट के अतिरिक्त जलविद्युत उत्पादन सयंत्रों के माध्यम से भी बांध से 204 क्युमेक पानी की निकासी हो रही है.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x