ट्रैक्टर की चपेट में आने से 5 वर्षीय बच्चे की मौत मां घायल अंतर्वेद गांव के थाना सीमा का फंसा पेच

(मनोज यादव )

ढीमरखेड़ा- शनिवार को जिले की सारी पुलिस अयोध्या फैसले के बाद पूरे क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाने में सफल रही लेकिन जैसे ही शाम को 7:00 बजते हैं तो उमरिया पान थाना अंतर्गत के अंतर वेद गनियारी गांव में ट्रैक्टर की चपेट में आने से एक पास 5 वर्षीय मासूम बच्चे की मौत के बवाल में तीन थानों की पुलिस से लेकर एसडीओपी तक के पसीने छूट गए

क्या है मामला
अंतर्वेद गनियारी में शाम को 7:00 बजे गांव के ही गोकर्ण मिश्रा के ट्रैक्टर ट्राली मैं 5 वर्षीय साहिल पिता रामदास एवं उसकी मां अंजलि भाई खेत से बैठकर घर जा रहे थे तभी ट्रैक्टर जब टेक पर चढ़ा तो मां और बच्चे दोनों फिसल कर ट्रैक्टर के नीचे आ गए जिसमें 5 वर्षीय बच्चे की मौके पर ही सिर चपट जाने से मौत हो गई वहीं बच्चे की मां के हाथ में गंभीर चोट आई इसके बाद लोगों ने घटना की जानकारी डायल हंड्रेड को दी पुलिस को जानकारी लगते ही अंतर वेद गनयारी के पास की पुलिस चौकी सिलोड़ी का समस्त स्टाफ मौके पर पहुंचा और घायलों को उपचार के लिए भेजने की तैयारी करने लगा

थाना सीमा विवाद में मारपीट की बनी स्थिति

घटनास्थल उमरिया पान थाना सीमा एवं सिलौड़ी चौकी पुलिस की सीमा के बीच का होने के कारण कुछ देर तक ग्रामीणों का माहौल अफरा तफरी में मचा रहा लेकिन घटनास्थल उमरिया पान थाना अंतर्गत होने के बावजूद उमरिया पान पुलिस के 2 घंटे तक मौके पर ना पहुंचने पर आक्रोश इतना बढ़ा कि ग्रामीणों द्वारा पुलिस पर पथराव करने तक की बात सामने आने लगी लेकिन सिलौड़ी चौकी पुलिस के स्टाफ एवं सूझबूझ के कारण पुलिस के साथ कोई घटना नहीं हो सकी

थाना प्रभारी के खिलाफ फूटा आक्रोश

मृतक के पिता ने बताया कि इसकी सूचना हमारे द्वारा पान उमरिया पुलिस को भी तुरंत ही दी गई थी लेकिन मौके पर दूसरे क्षेत्र की सिलौड़ी पुलिस पहुंची लेकिन 2 घंटे तक उमरिया पान पुलिस नहीं पहुंची जिससे पुलिस के थाना प्रभारी की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े होते हैं मृतक के पिता ने बताया कि जब 9:00 बजे उमरिया पान पुलिस आती है तो उसमें केवल एक एएसआई मौके पर आता है जिसके बाद ग्रामीणों का आक्रोश और बढ़ गया क्योंकि मौके पर उमरिया पान थाना प्रभारी नहीं पहुंचे

12 घंटे सड़क के किनारे रखी लाश

पुलिस की कार्यप्रणाली से रुष्ट होकर अंतर वेद गनियारी के लोगों द्वारा लाश को उमरिया पान पोस्टमार्टम गृह ना भिजवा कर घटनास्थल की सड़क किनारे ही 12 घंटे तक पूरी रात लाश को रखा गया उनकी मांग थी कि जब तक उमरिया पान थाना प्रभारी या बड़ा कोई अधिकारी नहीं आ जाता हम लाश को पोस्टमार्टम के लिए नहीं भेजेंगे जिसके बाद सुबह 8:00 बजे एसडीओपी प्रमोद सारस्वत मौके पर पहुंचे और समझाइश दी जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया

ढीमरखेड़ा पुलिस ने खड़ा कराया रात को 2बजे ट्रैक्टर

घटना की जानकारी लगते ही रात्रि 12:00 बजे ढीमरखेड़ा थाना प्रभारी एनके पांडे एवं थाना प्रभारी गोविंद सुरैया मौके पर पहुंचे स्वराज ट्रैक्टर वाहन क्रमांक एमपी 20 एबी 1633 जिस वाहन से घटना हुई है उसको रात्रि 2:00 बजे सिलोड़ी चौकी में खड़ा कराया गया जिस वाहन से घटना हुई है उस वाहन का बीमा इंश्योरेंस नहीं है जिसके बाद वाहन मालिक द्वारा वाहन बदलने के लिए काफी मशक्कत की गई थी

प्रमोद सारस्वत एसडीओपी स्लीमनाबाद-:
जैसे ही मुझे घटना की जानकारी लगती है तो मेरे द्वारा समीप की चौकी
सिलौड़ी होने के कारण ढीमरखेड़ा थाने बोलकर सिलौड़ी के स्टाफ को मौके पर भेजकर घटना पर कार्रवाई करने के लिए कहा गया

शेयर करें: