टपरिया वाले ने डंडे से पीटा तो शराब पीकर बेटी ने ही मुँह दबाकर कर दी थी माँ की हत्या

0

जबलपुर ,पनागर में हुई अंधी हत्या का पर्दाफास करते हुए पुलिस ने आरोपी महिला और एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है कंट्रोल रूम में पत्रकार वार्ता आयोजित कर एसपी निमिश अग्रवाल ने बताया की थाना पनागर में हुई महिला की हत्या मामले में आरोपी मृतिका की बेटी व समीप बनी टपरिया में रहने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है इनके द्वारा महिला की हत्या की गई थी

गिरफ्तार आरोपीयों में –
1. श्रीमति श्यामवती पति चंद्रदास कोठी उम्र 38 वर्ष निवासी ग्राम दूबा पटपरा थाना शहपुरा जिला डिण्डोरी
हाल पनागर स्थित चावला धर्मकांटा के पास

2-ताराचंद विश्वकर्मा पिता कोदू लाल विश्वकर्मा उम्र 60 वर्ष निवासी टाकीज के पीछे गुरूनानक वार्ड पनागर(चावला धर्मकांटा के पीछे स्थित टपरिया में रहकर खेत की तकवारी करता है )जप्ती- घटना में प्रयुक्त डण्डा।

यह है मामला :

वहीं पुलिस की मानें तो थाना पनागर मे दिनांक 01/05/19 को सूचना प्राप्त हुई थी कि चावला धर्मकांटा पीछे खेत मे एक महिला का शव पडा है, सूचना पर थाना प्रभारी श्री रविन्द्र वर्मा (भा.पु.से.) हमराह स्टाफ को लेकर तत्काल मौके पर पहुंचे । मौके पर उपस्थित मृतिका की पुत्री श्यामवती पनका ने बताया कि वह अपनी मां सुखमंतीबाई पनका पति स्व. शिवदास पनका उम्र लगभग 55 वर्ष निवासी ग्राम दूबा पटपरा थाना शहपुरा जिला डिण्डोरी के साथ चावला धर्मकांटा के पास डेरा बनाकर रहती है व मजदूरी करती है, घटना दिनॉक 1-5-19 को सुबह लगभग 08/30 बजे उसने एवं उसकी मॉ ने राजेश गौतम के खेत की मेढ पर ताराचंद विश्वकर्मा की टपरिया के पास बैठकर शराब पी, नशा होने पर मॉ वही पर लेट गयी, एवं वह अपने डेरे मे चली गयी, खाना बनाने के खाने के बाद दोपहर लगभग 02/30 बजे वापस जाकर देखी तो उसकी मॉ सुखमंती बाई पनका नग्न हालत मे पडी थी जिसके उपर सारी ढकी हिलाए डुलाने पर नही उठी, मृत हो चुकी थी । रिपोर्ट पर मौके पर मर्ग कायम कर जांच मे लिया गया ।घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियो को अवगत कराया गया, सूचना पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) राजेश कुमार त्रिपाठी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपराध) शिवेश सिंह बघेल, नगर पुलिस अधीक्षक अधारताल संभाग कौशल सिंह तथा एफएसएल टीम, डाग स्काट , फोटोग्राफर मौके पर पहुंचे टीम के द्वारा घटनास्थल शव का बारीकी से निरीक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही पश्चात पीएम हेतु भिजवाया गया।

पीएम रिपोर्ट से हुआ था खुलासा :

वहीं पीएम रिपोर्ट में डाक्टर द्वारा मृतिका की मृत्यु नाक एवं मुंह दबाकर हत्या करना लेख किये जाने पर थाना पनागर मे दिनॉक 4-5-19 को अपराध क्रमांक 356/19 धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया ।पुलिस अधीक्षक जबलपुर निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.) द्वारा आरोपी की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) राजेश कुमार त्रिपाठी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपराध) शिवेश सिंह बघेल, नगर पुलिस अधीक्षक अधारताल संभाग कौशल सिंह के मार्ग दर्शन में थाना प्रभारी पनागर रविन्द्र वर्मा (भा.पु.से.) के नेतृत्व में थाना पनागर स्टाफ एवं क्राइम ब्रांच की टीम गठित की गयी।

10 वर्ष के बच्चे ने खोला राज:

वहीं घटनास्थल एवं घटनाक्रम को देखते हुए पुलिस ने मृतिका की पुत्री श्यामवती बाई पनका पति चन्द्रदास पनका एवं पास बनी टपरिया के नौकर ताराचंद विश्वकर्मा की गतिविधियां संदिग्ध होने से लगातार साक्ष्य संकलित करते हुये मृतिका के नाती लम्मू सिंह उम्र 10 वर्ष एवं फूलचंद उम्र 12 वर्ष को विश्वास में लेते हुये बारीकी से पूंछतांछ की गयी, जिन्होने घटना के संबंध मे बताया कि दिनांक घटना को मृतिका एवं उसकी पुत्री श्यामवती बाई के बीच शराब पीने के उपरांत झगडा हुआ मृतिका मॉ, बेटी श्यामवती बाई के साथ गालीगलौज कर रही थी, जिस पर पास ही टपरिया बनाकर रहने वाले ताराचंद विश्वकर्मा ने डंडा से मारपीट की, एवं श्यामवती ने अपनी मॉ को मेढ से गिराकर उपर चढकर मारपीट की। कथनो की तस्दीक पर आरोपी ताराचंद विश्वकर्मा की मौजूदगी घटनास्थल पर पायी गयी, इस आधार पर दोनो संदेहियो को अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गयी जिन्होने पूछताछ पर मारपीट कर हत्या करना स्वीकार किया। पूछताछ पर पाया गया कि दिनांक घटना को शराब पीने के उपरांत मृतिका एवं मृतिका की पुत्री श्यामवती के बीच झगडा हुआ, मृतिका बेटी के साथ गालीगलौज कर रही थी, मौके पर उपस्थित आरोपी ताराचंद विश्वकर्मा के समझाने पर ताराचंद को भी गालियॉ देने लगी, जिस पर ताराचंद द्वारा डंडे से मारपीट की गयी एवं आरोपिया श्यामवती बाई द्वारा मृतिका का मुंह नाक दबाया गया, परिणामस्वरूप श्रीमति सुखमंती बाई पनका की मृत्यु हो गयी।

उल्लेखनीय भूमिका- अंधी हत्या के खुलासे में थाना प्रभारी पनागर रविन्द्र वर्मा (भा.पु.से.) उप.निरी. डी. पी भगत, सउनि रोहिणी शुक्ला, सउनि व्ही डी. द्विवेदी, प्रधान आरक्षक रमेश तिवारी , आरक्षक दिवाकर, रामाशीष एवं क्राइम क्राईम ब्रांच के टीम की सराहनीय भूमिका रहीं। पुलिस अधीक्षक जबलपुर निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरुस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x