जीजा साले की जोड़ी ने भटा लगाकर कमाये दस लाख

0

जबलपुर: समय पर मिली छोटी-सी मदद भी किस तरह बड़ा परिवर्तन ला सकती है इसका एक अच्छा उदाहरण बन गई है जबलपुर जिले के सिहोरा विकासखंड के ग्राम बरगंवा के श्रवण कुमार और ग्राम सिंघनपुरी के संदीप कुमार की जोड़ी ।
साले-बहनोई की यह जोड़ी पिछले कई सालों से एक साथ मिलकर भटा की खेती कर रही है लेकिन पिछले आठ-दस महीनों में ही इस जोड़ी ने करीब दस लाख रूपये के भटा बेचकर सभी को आश्चर्य में डाल दिया है । साले-बहनोई की इस जोड़ी की किस्मत बदली है एक ऐसी योजना ने जिसमें इन्हें पाईप और नोजल खरीदने के लिए 24 हजार रूपये की मदद मिली । उद्यानिकी विभाग द्वारा संचालित प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से वर्ष 2017 में मिली इस छोटी-सी सहायता तथा अपनी लगन और परिश्रम से इन युवा किसानों की जोड़ी ने जो कमाल किया वो दूसरों के लिए अनुकरणीय भी हो सकता है ।
वर्ष 2017 के पहले साले-बेहनोई की इस जोड़ी को खेती-बाड़ी से ज्यादा आमदनी नहीं हुआ करती थी । भटा-टमाटर और दूसरी सब्जियां लगाकर बस ये इतना ही कमा पाते थे कि घर परिवार का खर्च चल जाये । संदीप कुमार बताते हैं कि उनके खेत में नलकूप तो था लेकिन सिंचाई के लिए दूसरे जरूरी साधन नहीं थे । संदीप के मुताबिक शासकीय सहायता से पाईप और नोजल लगाने के बाद उसने और श्रवण ने एक एकड़ में भटा के बीज रोपे । समय-समय पर पानी मिलने से भरपूर पैदावार हुई और वर्ष 2018 में साढ़े चार लाख रूपये भटे की बिक्री से मिले ।संदीप कुमार ने आगे बताया कि अच्छी आमदनी से प्रोत्साहित होकर उसने अपने साले के साथ भटा का रकबा एक एकड़ से तीन एकड़ करने का फैसला लिया । इसके परिणाम भी उन्हें अच्छे मिले और इस साल जनवरी माह से अभी तक दस लाख रूपये से अधिक के भटा बेच चुके हैं । संदीप के साले श्रवण कुमार बताते हैं कि दोनों के पास बरगंवा और सिंघनपुरी में करीब छह एकड़ भूमि है । अब दूसरों की जमीनें बटाई पर लेकर भी खेती कर रहे हैं । इस बार दोनों ने करीब एक एकड़ में गन्ना भी लगाया है । श्रवण कुमार ने बताया कि भटा के बीज जबलपुर से लेते हैं । वे अपना भटा बघराजी, कुंडम और सिहोरा में थोक व्यापारियों को बेच रहे हैं । हालांकि इससे उन्हें बाजार में चल रहे दाम से आधी से भी कम कीमत ही मिल पाती है ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x