जबलपुर का एक ऐसा भी बार्ड जहाँ है विकास जीरो स्मार्ट सिटी की खोल रहा पोल

0

जबलपुर :नगर निगम के विकास की पोल खोल रहीं इस बार्ड की अव्यवस्थायें स्मार्ट सिटी का मुँह चिढ़ा रही है सबसे अचरज की बात तो यहाँ पर यह है जबलपुर में दो -दो मंत्री होने के बाद भी इस बार्ड के अच्छे दिन नहीँ आ पाये आज देखा जाए तो गाँव की सड़कें और वहाँ की व्यवस्थाएं भी इस बार्ड से बेहतर होंगी लेकिन स्मार्ट सिटी के इस बार्ड की दुर्गति नगर निगम के विकास की जरूर पोल खोल रहा है स्थानीय लोगों की मानें तो आ र टी ओ आफिस से लमती मानस चौक होते हुए बचपन स्कूल होकर विजय नगर कचनार में मिलने वाली मुख्य सड़क का हाल बेहाल है इस रोड से लगभग 25 से 30 कॉलोनी वासियों का रोजाना आना जाना है छोटे-छोटे बच्चे विभिन्न स्कूलों में भी इसी रोड से आते -जाते हैं इन कॉलोनियों को यह रोड स्टेट हाइवे में मिलाती है और इस रोड की दुर्दशा इस कदर है की आये दिन लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे है इस सड़क में इतने बड़े-बड़े गड्ढे हैं की पानी भरने के बाद पता ही नहीँ चलता की यह सड़क है की छोटी नदी वहीं स्थानीय लोगों का आरोप है की यह रोड इसलिए नहीं बन पा रही कि इस रोड का आधा क्षेत्र पनागर विधानसभा में आता है और आधा क्षेत्र बरगी विधानसभा में आता है दोनों और के विधायक और सांसद भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं यहां के रहवासियों ने स्थानीय विधायक पार्षद ,सांसद से रोड के लिए गुहार लगा चुके है लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ यहां के निवासियों को केवल अधिकारियों से ही उम्मीद है अगर जल्दी इस रोड की मरम्मत नहीं की गई तो भविष्य में कोई बड़ी दुर्घटना घटित हो सकती है

सभी कर दे रहे लेकिन सुविधा के नाम पर जीरो

वहीँ श्री खेरमाई जनकल्याण विकाश समिति मानस चौक लमती रोड जबलपुर ने गत दिवस निगमायुक्त आशीष कुमार को इन समस्याओं से भरा ज्ञापन सौपते हुए बताया की परिसीमन के बाद से यह क्षेत्र नगर निगम सीमा में शामिल हुआ उस समय से ही यहां के निवासी नगर निगम द्वारा निर्धारित जल ,संपत्ति कर सहित सभी तरह के करों का भुगतान कर रहे है जिसको 5 वर्ष होने जा रहे लेकिन उसके बाद भी यहाँ के वाशिन्दों को ननि द्वारा प्रदान की जाने वाली मूलभूत सुविधाएं मुहैया नहीँ करवाई गईँ हलाकि संघ द्वारा क्षेत्र की समस्याओं को लेकर समय -समय पर नगर निगम के अधिकारियों को ज्ञापन के माध्यम से शिकायतें दी गई है पर आज तक ननि का दिल नहीँ पसीजा नतीजन आज भी यहाँ के वाशिन्दों को बुनियादी सुविधाएं नहीँ मिल पा रही

9 की 9 सड़कें जर्जर हो रही दुर्घटनाएं

वहीं एक तरफ तो सरकार दुर्घटनाओं को रोकने और आवागमन के रास्तों को दुरस्त करने की बातें करते नहीं थकती लेकिन यहाँ की सड़कों का तो भगवान ही मालिक है स्थानीय लोगों के अनुसार नए बार्ड दादा ठनठन पाल क्रमांक 72 लमती क्षेत्र के रहवासियों के आवागमन के लिए कुल 9 सड़कें है जो की पिछले 5 सालों से जर्जर हालत में है इनकी हालत इतनी खराब है की किसी गाँव की पगडंडी से भी बत्तर हालत में है जिसमें प्रतिदिन लोग सड़क दुर्घटना का शिकार हो रहे है

गाँव से बत्तर है यहाँ की व्यवस्थाएं

वहीं स्थानीय लोगों ने बताया की क्षेत्र में सार्वजनिक नालियां न होने से गंदगी व संक्रामक बीमारियों का प्रकोप क्षेत्र में बढ़ रहा है साथ ही नाली विहीन बार्ड होने के चलते लोगों के घरों से निकलने वाला निस्तार का गन्दा पानी सड़कों व आसपास के गड्ढों में भर रहा है जिससे तरह -तरह बीमारियां उतपन्न हो रहीं है

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x