जबलपुर कमिश्नर ने उपार्जन की समीक्षा

0


जबलपुर :जबलपुर कमिश्नर रवीन्द्र कुमार मिश्रा ने जबलपुर संभाग में धान एवं गेहूं उपार्जन से संबंधित कार्यों एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कमिश्नर कार्यालय में आयोजित बैठक में सोमवार को की और आवश्यक निर्देश दिए।कमिश्नर ने खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में धान उपार्जन और रबी वर्ष 2020-21 में गेहूं उपार्जन की जबलपुर संभाग की जिलावार समीक्षा की। उन्होंने उपार्जन से जुड़ी व्यवस्थाओं की कमियों को दूर करने और भविष्य की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश सभी जिलों के संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि उपार्जन से जुड़ी व्यवस्थाओं को बेहतर से बेहतर और अधिक पारदर्शी बनाया जाए।


कमिश्नर श्री मिश्रा ने उपार्जित धान को हर हाल में सुरक्षित रखने के पुख्ता प्रबंध करने के कड़े निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित किया कि उपार्जित धान का व्यवस्थित रखरखाव सुनिश्चित हो। धान के सुरक्षित एवं व्यवस्थित रखरखाव, भण्डारण को सर्वोच्च प्राथमिकता दें, अन्यथा जवाबदारी तय की जाएगी। इसके लिए संबंधित सोसायटी के सचिव और सहकारी बैंक के मैनेजर जिम्मेदार होंगे।
कमिश्नर ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत लाभार्थी सत्यापन की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सत्यापन का कार्य प्राथमिकता से किया जाए। सत्यापन के कार्य में लगा अमला मुस्तैदी एवं तत्परता से कार्य करे, इस कार्य में सहयोग नहीं करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।
पीडीएस, एमडीएम, टेकहोम राशन आदि वितरण की व्यवस्थाओं के लिए कार्यरत जिला, विकासखण्ड एवं उचित मूल्य की दुकान स्तरीय सतर्कता समितियों की बैठकों की जानकारी कमिश्नर ने ली। उन्होंने निर्देश दिए कि खाद्य अधिकारी समितियों के पिछले तीन माह के कार्यों की समीक्षा कर अवगत कराएं। इन बैठकों की मानीटरिंग कर लिए गए निर्णयों की समीक्षा की जाए।
कमिश्नर श्री मिश्रा ने कहा कि भण्डारण की व्यवस्थाओं को सुचारू बनाने के लिए भविष्य में बड़े गोदाम बनाने के लिए प्रोत्साहन दिया जाए। इसके लिए भविष्य की भण्डारण क्षमता की आवश्यकता का आकलन कर लें। बड़े गोदाम, सायलो बैग-कैप/स्टील सायलो बनाने के लिए जिलों में कलेक्टर बड़े व्यापारियों एवं कंपनियों की बैठक बुलाएंगे। इसके लिए सिंगल विण्डो व्यवस्था बनाई जाएगी। सभी प्रकार की खानापूर्ति एवं एनओसी एक ही स्थान से देने की व्यवस्था की जाएगी।
रबी विपणन वर्ष 2019-20 में गेहूं कमीशन एवं लेबर भुगतान की कमिश्नर ने समीक्षा की। उन्होंने कहा कि समितियों को भुगतान की गई राशि का सदुपयोग सुनिश्चित किया जाए, इस राशि का दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। इसके लिए सोसायटियों को निर्देश जारी करने की हिदायत दी गई।
बैठक में बताया गया कि खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में संभाग में 1496323.67 मे.टन धान उपार्जित की गई। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत लाभार्थी सत्यापन का 79 प्रतिशत कार्य संभाग में पूर्ण कर लिया गया है। लक्षित 21 लाख 80 हजार 863 परिवारों में से 17 लाख 24 हजार 761 का सत्यापन पूर्ण हो गया है।
रबी मौसम में गेहूं उपार्जन का कार्य 25 मार्च से 22 मई 2020 तक होगा। इस वर्ष गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रूपए प्रति क्विंटल रूपए निर्धारित किया गया है। गेहूं उपार्जन हेतु किसान पंजीयन का कार्य एक फरवरी से शुरू हो गया है, जो 28 फरवरी तक चलेगा। वर्ष 2019-20 में संभाग में 3 लाख 28 हजार 55 किसानों का पंजीयन गेहूं उपार्जन के लिए किया गया था। पिछले रबी मौसम में संभाग में 1028692 मे.टन गेहूं उपार्जन हुआ था। इसके लिए 493 उपार्जन केन्द्र बनाए गए थे। इस रबी मौसम में संभाग में 1407500 मे.टन गेहूं का उपार्जन अनुमानित है।
बैठक में संयुक्त कमिश्नर श्री यादव, जिला आपूर्ति नियंत्रक श्री एमएनएच खान, संयुक्त उपायुक्त सहकारिता, क्षेत्रीय प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, जोनल मैनेजर मार्कफेड संभाग के सभी जिलों के जिला आपूर्ति अधिकारी, उपायुक्त सहकारिता, महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक, जिला विपणन अधिकारी, जिला प्रबंधक स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x