छः माह बाद खुले स्कूलों में गिने चुने पहुँचे विद्यार्थी

 

सिहोरा :कोविड-19 की फैली दहशत के बीच 6 माह बाद आज से 7 की आशा की स्कूल तो खुल गए लेकिन पाठशाला में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति नगण्य रही गौरतलब है कि निजी शैक्षणिक संस्थाओं में शिक्षण सत्र के प्रारंभ से ही ऑनलाइन क्लासेज संचालित की जा रही है वहीं शासकीय शालाओं में अध्ययनरत छात्रों के पास एंड्रॉयड मोबाइल की अनुपलब्धता के अलावा संचार साधनों की कमी के चलते अध्यापन कार्य गति नहीं पकड़ पा रहा था ऐसे में सरकारी साला का खुल्ला छात्र छात्राओं के हित में तो है किंतु पलकों के सामने स्थिति अभी भी असमंजस की बनी हुई है शासन के स्पष्ट निर्देश है कि पालकों की लिखित सहमति प्राप्त होने पर ही छात्रों को विद्यालय बुलाया जाए
सूनी रही पाठशाला
उल्लेखनीय है कि नगर के पंडित विष्णु दत्त उत्कृष्ट विद्यालय शिवपुरा एवं कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल सिहोरा में हाई स्कूल पूरक परीक्षा का संचालन किया जा रहा है जिसके चलते साला खुलने के पहले दिन पाठशाला में 9 से 12 के छात्र-छात्राओं की उपस्थिति नगण्य रही वहीं समीपस्थ ग्राम गुनहरू मोहसाम के प्राचार्य एम डी पटेल ने बताया कि पहले दिन लगभग 15 छात्र छात्रा शाला आए जिन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाकर शासन से प्राप्त दिशा निर्देशों के अनुसार मार्ग दर्शन दिया गया
पालको की सहमति बन रही बाधक
निजी स्कूल प्रबंधकों ने बताया कि शासन से प्राप्त दिशा निर्देशों के तहत विद्यालय प्रबंधन ने सोशल डिस्टेंसिंग मार्च सैनिटाइजर की व्यवस्था विद्यालय में कर ली किंतु बालकों की लिखित सहमति अभी प्राप्त नहीं हुई है इसलिए कक्षाएं संचालित नहीं की जा रही।
पूरक परीक्षा के बाद आएगी गति
अन्य शिक्षण संस्था के प्रमुखों ने बताया कि हाईस्कूल परीक्षा के बाद ही विधिवत शिक्षण संस्था संचालित हो सकेंगे अभी छात्र छात्राओं को पलकों से लिखित सहमति पत्र उपलब्ध कराने संचार माध्यम से अवगत कराया गया है लिखित सहमति प्राप्त होते ही विधिवत कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाएं संचालित हो सकेंगी।
इनका कहना है
छात्र छात्राओं के अभिभावकों को सूचना भेज दी गई है सहमति पत्र के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
अशोक उपाध्याय विकास खंड शिक्षा अधिकारी

शेयर करें: