चोरी करने के दौरान पहचान होने पर कर दी थी बृद्धा की हत्या टाविल ने खोला राज

0

जबलपुर: ग्राम घुन्सौर मे हुई वृद्ध महिला की अंधी हत्या का खुलासा आरोपी की टाविल से हो गया कहते है न की अपराधी कितना भी बड़ा शातिर हो कोई न कोई क्लू छोड़ ही देता है ऐसे ही एक सनसनीखेज हत्याकांड से पर्दा उठाते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया मामला थाना शहपुरा का है जहां पर दिनॉक 27-11-19 को सुबह 8 बजे ग्राम घुन्सौर मे 70 वर्षिय महिला श्रीमति गौरा बाई गौड़ की मृत्यु होने की सूचना पर पहुंची पुलिस को श्रीमति गौरा बाई घर की परछी में दरवाजे के सामने मृत अवस्था मे पडी हुई मिली, ग्राम घुन्सौर कोटवार के बेटे भीकम दाहिया उम्र 35 वर्ष ने बताया कि रात लगभग 00-30 बजे गॉव की गौरा बाई के साथ गॉव का हरगोविंद लोधी, कल्लू काछी, उसके घर आये, गौरा बाई ने बताया कि कुछ देर पहले मै घर पर पलंग मे सोई थी तभी एक ठिगने कद का लड़का जो मुंह मे कपड़ा बांधे था आया और मुंह मे मारा तथा दीवाल कूद कर भाग गया। गौरा बाई के उपरी होठ से खून निकल रहा था, जिससे कहा कि पुलिस को बुलाता हूॅ तो गौरा बाई कहने लगी सुबह देखेंगे, फिर गौरा बाई को लेकर उसके घर छोडने हरगोविंद, कल्लू चले गये। सुबह 7 बजे गॉव की सावित्री बाई , तुलसा बाई, घूमने निकली थी जिन्होंने देखा कि गौरा बाई अपने घर के सामने दरवाजे के पास पडी हांप रही थी, मुंह से फसुकर निकल रहा था, सांसें चल रही थी, सावित्री एवं तुलसा बाई के द्वारा बताने पर उसने तुंरंत जाकर देखा तो गौरा बाई की मृत्यु हो चुकी थी, किसी अज्ञात लडके ने गौरा बाई के साथ मारपीट कर उसकी हत्या कर दिया है।

खून लगा पत्थर व 100 ग्राम यूरिया मिला

वहीं सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी शहपुरा आर.के. गौतम द्वारा घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। सूचना पर पहुंचे अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. राय सिंह नरवरिया एसडीओपी पाटन रोहित काशवानी (भा.पु.से.) एवं एफएसएल टीम मौके पर पहुंचे , घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना मे लिया गया। घटना स्थल निरीक्षण के दौरान खून लागा हुआ एक टाविल जो मृतिका का नहीं था, एवं खून लगा पत्थर तथा एक पॉलीथीन में लगभग 100 ग्राम यूरिया मिला। पुलिस अधीक्षक जबलपुर अमित सिंह (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये अज्ञात आरोपी की अविलम्ब गिरफ्तारी एवं पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये, अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. राय िंसह नरवरिया के मार्ग निर्देशन में एसडीओपी पाटन रोहित काशवानी (भा.पु.से.) के नेतृत्व में थाना प्रभारी शहपुरा श्री आर.के. गौतम के हमराह टीम गठित की गयी।टीम को पतासाजी एवं प्रारम्भिक पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि श्रीमति गौरा बाई पूर्व में गॉव के हनुमान मंदिर के पास रहती थी, वर्तमान में गॉव के वीरेन्द्र पटेल के पुराने मकान की परछी में रह रही थी।

टाविल ने खोला खूनी राज

वहीँ दिये गये निर्देशों के तहत थाना क्षेत्र के पुराने बदमाश, अवैध शराब बेचने वालों और आदतन जुआ खेलने वालों से ग्राम घुंसौर की ग्राम पंचायत में चौपाल लगाकर पूछताछ की गयी, जिसमें यह तत्थय प्रकाश मे आया कि दिनॉक 26-11-19 की रात्रि मे मनोज पटेल अन्नू उर्फ अनिरूद्ध तथा सत्यम पटेल ने गॉव के ग्राम पंचायत भवन के कमरा मे शराब पिये, एवं अण्डे खाये, इसके बाद सत्यम पटेल अपने घर ग्राम नोनी चला गया, अन्नू एवं मनोज पटेल मोटर सायकिल से गॉव के इंदिरा आवास तरफ जुआ खेलने के इरादे से गये, जुआ बंद होने से गुडडू बर्मन के घर में हो रही साप्ताहिक रामायण में पहुंचे, रात लगभग 12 बजे रामायण बंद होने पर दोने मोटर सायकिल से अपने अपने घर चले गये, मनोज पटेल अपने घर कुछ देर रूकने के बाद चोरी करने के इरादे से गौरा बाई के यहॉ पहुंचा, गौरा बाई जाग गयी, और मनोज को पहचान ली, तथा मनोज को पकडने का प्रयास किया तो गौरा बाई को धक्का देकर मनोज भाग कर अपने घर पहुंचा, मनोज जो टाविल लपेटा था वह गौरा बाई के पास ही छूट गया, जो दिनॉक 27-11-19 की सुबह गौरा बाई की मृत्यु होने पर शव के पास ही मिला था, टाविल मे खून के धब्बे पाये गये थे, टाविल के सम्बंध मे पतासाजी की गयी तो गॉव वालो ने घटना स्थल पर मिले उक्त टाविल को मनोज पटेल का होना बताया, मनोज पटेल को अभिरक्षा मे लेकर सघन पूछताछ की गयी तो मनोज पटेल ने उक्त टाविल अपना होना स्वीकार किया, मनोज पटेल पिता शिवप्रसाद पटेल उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम घुंसौर को जो कि ग्राम पंचायत का पंप हाउस चलाता है, हत्या के प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार किया जाकर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

उल्लेखनीय भूमिका- थाना प्रभारी शहपुरा आर.के. गौतक, उ.नि. हेमंत यादव, आरती मण्डोलई, प्रधान आरक्षक रामकरण, आरक्षक दीपक, प्रमोद, सत्येन्द्र, दिनेश, अभिषेक, पुष्पराज, शुभम की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक जबलपुर अमित िंसह (भा.पु.से.) ने टीम को पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x