गेहूं उपार्जन केन्द्रों की व्यवस्थाओं के लिए 73 अधिकारी तैनात

जबलपुर, कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने रबी विपणन वर्ष 2019-20 के लिए जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन के लिए बनाए गए 73 खरीदी केन्द्रों की व्यवस्थाओं की निगरानी के लिए उपार्जन केन्द्रवार अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं का उपार्जन शुरू हो गया है। खरीदी का यह कार्य 31 मई तक चलेगा। गेहूं उपार्जन के समय उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की एफएक्यू गुणवत्ता का निर्धारण, उपार्जित गेहूं का परिवहन एवं उपार्जन केन्द्रों पर आने वाली समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के लिए कलेक्टर ने हर उपार्जन केन्द्र के लिए एक प्रभारी अधिकारी तैनात किया है। इसमें मुख्य रूप से सहकारिता और कृषि विभाग के अधिकारी शामिल हैं। उपार्जन केन्द्र प्रभारी का पर्यवेक्षण नोडल अधिकारी संबंधित तहसील के तहसीलदार और सहायक पर्यवेक्षण अधिकारी संबंधित नायब तहसीलदार होंगे। तहसीलदार, नायब तहसीलदार व उपार्जन केन्द्र प्रभारी खरीदी केन्द्रों और भण्डारण स्थल का नियमित निरीक्षण कर प्रतिवेदन देंगे ज्ञातव्य है कि जबलपुर तहसील में 10 गेहूं उपार्जन केन्द्र, कुंडम तहसील में 5, मझौली तहसील में 12, पनागर तहसील में 11 उपार्जन केन्द्र बनाए गए हैं। इसी प्रकार पाटन तहसील में 13 गेहूं खरीदी केन्द्र, शहपुरा तहसील में 12 खरीदी केन्द्र तथा सिहोरा तहसील में 10 गेहूं खरीदी केन्द्र बनाए गए हैं।
शेयर करें: