गर्मी की चपेट में भारत लू ने ले ली अब तक 30 की जान

वर्तमान मौषम की तपन को देखकर यह कहना गलत नहीँ होगा की आज पूरे हिंदुस्तान में नवतपा तेजी से तो रहे है जो की लोगों के लिए असहनीय होने लगा है नवभारत टाईम्स .कॉम की मानें तो गर्मी से अबतक 30 की मौत हो गई है यहाँ तक की जम्मू में पारा उछाल मारकर 44 के पार पहुँच गया है देशभर के ज्यादातर राज्यों में भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी है। कई जगहों पर तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच चुका है। देश में इस साल हीटवेव की वजह से अबतक कम से कम 30 लोगों की मौत हो चुकी है।देश के ज्यादातर हिस्सों में भीषण हीटवेव का कहर, देशभर में अबतक कम से कम 30 की मौत सबसे ज्यादा तेलंगाना में 17 मौत, महाराष्ट्र में 8 और आंध्र प्रदेश में 3 लोगों की हीटवेव से मौत
राजस्थान के गंगानगर में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 49.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था
मौसम विभाग ने दिल्ली के लिए हाइएस्ट ‘रेड कलर’ वॉर्निंग जारी किया, अगले 3 दिन राहत के आसार नहीं देशभर के ज्यादातर राज्यों में भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी है। कई जगहों पर तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच चुका है। राजस्थान के गंगानगर में तो शुक्रवार को अधिकतम तापमान 50 डिग्री के करीब पहुंच गया। वहां 49.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। देश में इस साल हीटवेव की वजह से अबतक कम से कम 30 लोगों की मौत हो चुकी है। मौसम विभाग के मुताबिक, अभी अगले 3 दिनों तक भीषण हीटवेव से राहत नहीं मिलने वाली है।

देश का ज्यादातर हिस्सा हीटवेव की चपेट में
मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी राजस्थान के ज्यादातर हिस्सों में शनिवार को भीषण हीटवेव चल रही है। इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, मध्य प्रदेश, यूपी, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, नॉर्थ कर्नाटक, बिहार, झारखंड, कर्नाटक और महाराष्ट्र के कई हिस्सों में लू का कहर अगले कुछ दिनों तक जारी रहेगा।
तेलंगाना में सबसे ज्यादा मौत
हीटवेव की वजह से इस साल तेलंगाना में सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। पिछली 23 दिनों में सूबे में गर्मी और लू से 17 लोगों की मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है। इसी तरह आंध्र प्रदेश में इस सीजन में 3 लोगों की लू लगने से मौत हुई है। इसके अलावा 433 लोग बीमार हुए हैं। दोनों राज्यों में 2015 में भीषण लू ने कहर ढाया था। तब अकेले आंध्र प्रदेश में लू लगने से 1,369 लोगों की मौत हुई थी। इसी तरह तेलंगाना में 2015 में 541 लोगों की मौत हुई थी। वहां पिछले साल भी 27 लोगों की जान गई थी।
महाराष्ट्र में अबतक 8 की मौत
महाराष्ट्र के भी ज्यादातर हिस्से भीषण गर्मी और लू की चपेट में हैं। यहां इस सीजन में गर्मी से अबतक 8 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 456 लोगों के बीमार होने के मामले सामने आए हैं। नागपुर और अकोला जैसे क्षेत्रों में लू से मौत और बीमार पड़ने की घटनाएं ज्यादा हुई हैं।
दिल्ली में ‘रेड कलर’ वॉर्निंग
मौसम विभाग ने तो दिल्ली के लिए हाइएस्ट ‘रेड कलर’ वॉर्निंग जारी की है। हालांकि, यहां शनिवार को तापमान में थोड़ी गिरावट देखी गई। शुक्रवार को जहां चाणक्यपुरी जैसे कुछ इलाकों में पारा 47 डिग्री से भी पार चला गया था, वहीं शनिवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री के आस-पास है। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में हीटवेव की स्थिति तबतक जारी रह सकती है जबतक कि बंगाल की खाड़ी से पुरुवइया हवा यूपी के रास्ते दिल्ली न पहुंचे और यहां डस्ट स्टॉर्म और हल्की बारिश न लाए।
जम्मू-कश्मीर, हिमाचल में भी पारा 44 पार
जम्मू-कश्मीर और हिमाचल जैसे पहाड़ी राज्यों में भी कुछ जगहों पर पारा 45 डिग्री के करीब पहुंच गया है। जम्मू में शुक्रवार का दिन सीजन का सबसे गर्म दिन रहा, जहां तापमान 44.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसी तरह हिमाचल के ऊना जिले में पारा 44.7 डिग्री सेल्सियस को छू गया। देहरादून में भी पारा 40 के पार पहुंच गया है।
कब कहां घोषित होती है हीटवेव?
जब मैदानी इलाकों में पारा 40 डिग्री सेल्सियस, तटीय क्षेत्रों में 37 डिग्री सेल्सियस और पहाड़ी क्षेत्रों में 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच जाता है तो उसे हीटवेव माना जाता है।

शेयर करें: