खतरनाक है ये डायवर्सन कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

जबलपुर : सिहोरा में एक ऐसा डायवर्सन जो की दुर्घटनाओं को न्यौता दे रहा है आपको बता दें की हाल ही में एलएनटी द्वारा सिहोरा जबलपुर मार्ग पर खितौला तिराहे के पास एनएच-7 से जोड़कर बनाया गया घुमावदार डायवर्सन से यातायात के लिए परेशानी का सबब बन रहा है इस सड़क मार्ग पर डायवर्सन पनागर तेरा ही कसूर रूप दे दिया गया है जिससे ना केवल यातायात में खतरा बना हुआ है अभी तुम वह डायवर्शन मार्ग दुर्घटना को आमंत्रित कर रहा है।
जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 7 सिहोरा बाईपास मार्ग खितौला तिराहे के आगे डायवर्शन बनाकर जोड़ा गया जिससे तीनों ओर से क्रमशः जबलपुर व कटनी की ओर जाने आने वाले एवं सिहोरा आने जाने वाले वाहनों का इस तिराहे पर संगम होने से रात्रि के समय वाहनों की लंबी लाइन लग रही है जिससे यातायात में व्यवधान उत्पन्न तो हो ही रहा है।सबसे प्रमुख बात यह है कि जबलपुर की ओर से आने वाले वाहन डायवर्सन से जाने वाले वाहन चालक को नही दिखते जिससे दुर्घटनाओं का हर वक्त अंदेशा बना रहता है।
*व्यस्त डायवर्सन व तिराहे पर अँधेरा क्यो नही-यहां पर ना तो लाइट की व्यवस्था है और ना ही डायवर्सन मार्ग पर दोनों ओर किसी प्रकार की बेरिकेट्स लगाए गए हैं। इस डायवर्सन के दोनों ओर गहरी खाई भी है। जिससे इस अंधे व खतरनाक डायवर्सन पर यातायात में भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। दोपहिया वाहन चालक तो बड़े वाहनो की लाइट पड़ते ही वाहन चालक बेकाबू होकर गिर रहे हैं।
अंधेरे के कारण खतरनाक डायवर्सन से य दोपहिया वाहन चालको को निकलने में डर रहे हैं। एलएनटी द्वारा यातायात सुरक्षा व डायवर्सन के नियमों की अनदेखी कर रही है।
प्रशासनिक उदासीनता के वजह से डायवर्सन मार्गों के आसपास एलएनटी द्वारा लाइट की व्यवस्था नही की गई।

घुप अंधेरे में निकलते हैं वाहन

फोरलेन सड़क से डायवर्सन मार्ग पर आने में भारवाहक या दोपहिया वाहन चालक भारी परेशानी होती है। क्योंकि डायवर्सन मार्ग पर अंधेरे के अलावा घुमावदार होने से फिसलकर वाहन गहरी खाई में गिरने का भय बना रहता है। वाहन चालकों ने बताया कि डायवर्सन मार्ग पर बिजली व्यवस्था व बेरिकेट्स की लाइन न लगे होने की वजह से वाहन कहां से जाना है पता ही नहीं चलता। शासन प्रशासन से आग्रह है कि यातायात सुविधाओं व वाहन चालकों की सुरक्षा को लेकर आवश्यक उपाय किए जाए।

शेयर करें: