कैसे रुकेगी रेत चोरी जब सब ऊपर सैट है

जबलपुर ;नर्मदा की सहायक नदी हिरन के घाटों से रेत का अवैध उत्खनन थमने का नाम नहीँ ले रहा है जिसके पीछे की बजह यही है की ऐसे में जब सब कुछ सैट है तो कैसे रेत की चोरी रुकेगी वहीं आज देखा जाए तो रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर पूर्णतः प्रतिबंध होने के बावजूद भी हिरन नदी के कई घाटों से रेत माफ़ियों द्वारा रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है जिसमेँ कूम्ही सतधारा ,खिरहनी ,खिन्नी केथरा ,मगरकटा ,सहित अन्य घाटों के साथ दरौली कला के कुलुआ घाट से भी रेत माफ़ियों द्वारा रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है जिसकी जानकारी स्थानीय राजस्व विभाग व पुलिस के अधिकारियों को होते हुए भी इन घाटों पर सिर्फ दिखावटी कार्यवाही के अतिरिक्त आज तक कुछ नहीँ किया गया जिसमें की बताया जा रहा है की दरौली के कुलुआ घाट में तो आज तक न ही अवैध रेत के स्टॉक जप्त किये गए न ही कभी किसी प्रकार की कोई कार्यवाही की गई जिसके चलते रेत माफ़ियों द्वारा नदी की जान रेत का अवैध रूप से उत्खनन और परिवहन लगातार किया जा रहा है और राजस्व व माईनिंग विभाग कुम्भकर्णी नींद सो रहे है अब देखना होगा इनकी निद्रा कब तक खुलेगी

सबके हफ्ता बंधे है साहब

वहीँ विश्वनीय सूत्रों की मानें तो रेत माफ़ियों पर कार्यवाही करने वाले जितने विभाग है सबके सब इनसे सैट है नहीं तो प्रशासन चाहे तो कोई सुई तक नहीं चुरा सकता लेकिन यहाँ तो पूरी की पूरी हिरन नदी की रेत ही चोरी हो रही है ये बात अलग है की जब हफ्ता समय से पहुँच जाता है तो कोई धूप में कार्यवाही करने के लिए क्यों नदी के घाट पर परेसान होने क्यों जाये

शेयर करें: