कृत्रिम अंग मुहैया कराने आयोजित शिविर से 1945 दिव्यांग लाभान्वित

जबलपुर ,उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधिपति एवं मुख्य संरक्षक म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण न्यायमूर्ति एस.के. सेठ के निर्देशन तथा न्यायमूर्ति श्री एच.जी. रमेश, प्रशासनिक न्यायाधिपति, म.प्र. उच्च न्यायालय एवं कार्यपालक अध्यक्ष, म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कुशल मार्गदर्शन में भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति जयपुर, (जयपुर फुट), मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज, के संयुक्त प्रयासों से 5 दिवसीय विशेष वृहद मेडिकल शिविर का आयोजन किया गया। भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति जयपुर, (जयपुर फुट) एवं नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज, जबलपुर द्वारा स्थापित इस स्थायी केन्द्र पर कृत्रिम अंग उपलब्धता के व्यापक प्रचार-प्रसार से शिविर अवधि में बहुत बडी संख्या में दिव्यांगजन पहुंचे। शिविर समापन के पश्चात् भी उक्त स्थायी केन्द्र में निरंतर निःशुल्क सेवा प्रदान की जाती रहेगी। 26 मार्च से 28 मार्च पूर्व निर्धारित तिथियों पर शिविर आयोजन किया गया, किंतु आमजन के शिविर के प्रति रूझान को देखते हुए इसे दो दिवस और बढा कर 30 मार्च तक आयोजित किया गया। शिविर आयोजन के दौरान 1945 दिव्यांगजनों को लाभांवित किया गया। इसमें 341 कृत्रिम पैर, 141 कैलिपर्स, 108 कृत्रिम हाथ, 503 श्रवण अंग, 352 ट्रायसाईकल, 261 व्हीलचेयर, 223 बैसाखियां, 16 स्टिक एवं अन्य उपकरण प्रदान किये गये।सदस्य सचिव, म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण अमनीश वर्मा द्वारा दिव्यांगजनों से अपील की गई है कि वे भविष्य में भी स्थायी केन्द्र में पहुंचकर निःशुल्क सेवा का लाभ ले सकते है।
शेयर करें: