कुंडम के ग्रामीण क्षेत्र के भ्रमण के दौरान कलेक्टर के निर्देश

जरूरतमंदों को काम दिलाने हर ग्राम पंचायत में शुरू किये जायें रोजगारमूलक कार्य
जबलपुर :कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने आदिवासी बहुल कुंडम विकासखण्ड की प्रत्येक ग्राम पंचायत में कम से कम चार-पांच रोजगारमूलक कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिये हैं, ताकि हर जरूरतमंद को स्थानीय स्तर पर ही काम उपलब्ध कराया जा सके । श्रीमती भारद्वाज ने ये निर्देश कुंडम विकासखंड के आज अपने भ्रमण के दौरान दिये । जिला पंचायत की सीईओ रजनी सिंह भी इस दौरान उनके साथ मौजूद थीं । कलेक्टर ने भ्रमण के दौरान ग्राम महगंवा और ददरगंवा में ग्रामीणों से चर्चा भी की । उन्होंने ग्रामीणों से सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न की उपलब्धता की जानकारी भी प्राप्त की । श्रीमती भारद्वाज ने अधिकारियों से कहा कि उन सभी उचित मूल्य दुकानों पर माह की 15 तारीख के बाद पीओएस के माध्यम से ऑफ लाइन खाद्यान्न वितरण की व्यवस्था की जाये जहां कनेक्टिविटी उपलब्ध न होने के कारण 15 तारीख तक ऑन लाइन खाद्यान्न वितरण की स्थिति शून्य हो । श्रीमती भारद्वाज ने महगंवा की उचित मूल्य दुकान से ग्रामीणों को खाद्यान और कैरोसिन के वितरण का ब्यौरा भी लिया तथा ग्रामीणों से खाद्यान्न की गुणवत्ता के बारे में पूछताछ की । कलेक्टर को ददरगंवा और महगंवा के ग्रामीणों ने पेयजल की समस्या से अवगत कराया तथा इसके निराकरण के लिए गांवों में अतिरिक्त नलकूप के खनन की मांग की । कलेक्टर ने ग्रामीणों की जरूरतों को देखते हुए अधिकारियों को महगंवा में दो अतिरिक्त नलकूप का खनन करने तथा एक निजी नलकूप को अधिग्रहित कर गांव में पेयजल की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये । उन्होंने ददरगंवा में मनरेगा की उपयोजना निर्मल नीर के तहत कूप खनन के चल रहे कार्य का अवलोकन भी किया । श्रीमती भारद्वाज ने ग्रामीणों से पेयजल की समस्या की जानकारी मिलने पर यहां पूर्व में खोदे गये कूप को गहरा करने के निर्देश दिये । उन्होंने पहाड़ियों की ढलान पर बने इस कुएं की रिचार्जिंग के लिए समीप ही मेढ़ बंधान की जरूरत भी बताई । श्रीमती भारद्वाज ने अधिकारियों को स्पष्ट हिदायत दी कि गांव में शुरू किये जाने वाले रोजगारमूलक कार्यों में तालाब निर्माण और मेढ़ बंधान के कार्यों को प्राथमिकता दें । उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराये जाने के लिए ये कार्य तत्काल शुरू कर दिये जाने चाहिए । श्रीमती भारद्वाज ने रोजगारमूलक कार्यों की प्रतिदिन की रिपोर्ट कलेक्टर कार्यालय को अनिवार्य रूप से भेजने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये । कलेक्टर ने भ्रमण के दौरान कुंडम विकासखंड के प्रत्येक पात्र व्यक्ति को सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं का लाभ दिलाने के निर्देश दिये । उन्होंने दिव्यांगजनों को पेंशन स्वीकृत करने पर खास जोर देते हुए कहा कि ऐसे हर एक दिव्यांग व्यक्ति को जिला अस्पताल ले जाकर विकलांगता प्रमाण पत्र बनवाये जायें, जो खुद वहां जाने में सक्षम नहीं हैं । श्रीमती भारद्वाज ने प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को घर का निर्माण पूरा होने पर मनरेगा के तहत मजदूरी की राशि का तुरंत भुगतान कराने की हिदायत भी अधिकारियों को दी । उन्होंने ददरगंव में सर्वशिक्षा अभियान के तहत ड्राप ऑउट बच्चों के लिए बन रहे आवासीय कक्षों के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी किया । उन्होंने इस निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर खास ध्यान देने की हिदायत अधिकारियों को दी ।

पेयजल स्त्रोतों का करें क्लोरीनेशन:-

कलेक्टर के भ्रमण के दौरान कुंडम विकासखंड में पेयजल स्त्रोतों की सफाई और क्लोरीनेशन पर विशेष जोर दिया । उन्होंने कहा कि ग्रामीणों के स्वास्थ्य के मद्देनजर पेयजल स्त्रोतों की सफाई बेहद जरूरी है । श्रीमती भारद्वाज ने सभी कुंओं के क्लोरीनेशन का कार्य सप्ताह भर के अंदर कर लेने की हिदायत अधिकारियों को दी ।

आंगनबाड़ी केन्द्र जाकर बच्चों से पूछे सवाल:-

कलेक्टर ने महगंवा में आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण भी किया । इस दौरान उन्होंने बच्चों को नाश्ता और भोजन नियमित रूप से नहीं मिलने की शिकायत पर स्थानीय स्व-सहायता समूह के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिये । श्रीमती भारद्वाज ने आंगनबाड़ी केन्द्र में दर्ज बच्चों की संख्या तथा उनकी उपस्थिति की जानकारी भी प्राप्त की । उन्होंने निरीक्षण के दौरान बच्चों से कई सवाल भी किये और सही जवाब मिलने पर उनको शाबासी दी । आंगनबाड़ी केन्द्र के एक बच्चे संदीप मार्को द्वारा आठ का पहाड़ा सही-सही बताने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कलेक्टर एवं जिला पंचायत की सीईओ ने उसे उपहार के तौर पर चॉकलेट भेंट की और उसकी पीठ थपथपाई । कलेक्टर ने आंगनबाड़ी केन्द्र के निरीक्षण के दौरान यहां शौचालय बनाने के निर्देश भी दिये । इसके पूर्व श्रीमती भारद्वाज ने तिलसानी स्थित गेहूं उपार्जन केन्द्र तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कुंडम का निरीक्षण भी किया । कलेक्टर के भ्रमण के दौरान कुंडम की अनुविभागीय राजस्व अधिकारी विमलेश सिंह भी मौजूद थीं ।
शेयर करें: