कार में खेल रहे थे बच्चे अचानक लॉक हुई कार में तीन बच्चों की मौत

इंदौर : इंदौर में घर से आंगनवाड़ी जाने निकले बच्चों की कार के अंदर बैठकर खेलते समय दम घुटने से मौत हो गई घटना शुक्रवार सुबह 8:00 बजे की बताई जा रही है घटना में तीन बच्चों के मौत की सूचना है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इंदौर के समीप सांवेर में तीन मासूम बच्चे घर से सुबह आंगनवाड़ी का बोलकर निकले थे जिसके बाद बच्चे घर से खेलते हुए समीप ही खड़ी एक कार में चले गए कार में तीनों बच्चे बैठे तो कार लॉक हो गई कार लॉक होने से बच्चों का दम घुट गया और तीनों की मौत हो गई। साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि बच्चों के घर के बाहर दो भंगार कारें खड़ी थी। जिसमे एक कार में तीन मासूम सगे भाई-बहन जिनकी उम्र, प्रतीक (2) बुलबुल (4) पूनम (5) तीनो के पिता पवन लोढ़ी है। घर के पास में खेलते – खेलते तेज़ धूप में रखी एक पुरानी कार एमपी 09 सीजे 0605 में बैठ गए और गाड़ी का दरवाज़ा बंद कर दिया । उसके बाद वह गाड़ी का गेट खोल नहीं पाए और दम घुटने से तीनो मासूमों की मौत हो गई । उन्हें सांवेर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया डॉक्टरों ने जांच की तबतक बच्चो की मौत हो गई ।थाना प्रभारी एम पी वर्मा के अनुसार घटना चंद्रभागा वार्ड नंबर 2 की है यहां चार-पांच महीने से कार खराब पड़ी हुई थी जिसके अंदर बच्चे खेलते खेलते पहुंच गए और अंदर से लॉक बंद हो गया तीनों बच्चों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए सांवेर के अस्पताल भिजवाया गया है।

2 घंटे तक ढूंढते रहे

बताया जा रहा है की बच्चे सुबह 8 बजे घर से आंगनवाड़ी का बोल कर निकले और वापस नहीं लौटे तो घर वालों ने बच्चों को ढूंढना शुरू किया करीब 2 घंटे तक बच्चों के परिजन बच्चों को ढूंढते रहे लेकिन इन 2 घंटों में इन परिजनों की नजर घर के सामने खड़ी भंगार कारों में नहीं गई कुछ देर बाद जब परिजन की नजर कार में गई तो घटना का खुलासा हुआ बताया जा रहा है कि यह कार कहीं दिनों से घटनास्थल पर ही खड़ी है इनके कांच हमेशा खुले रहते हैं लेकिन आज बच्चों ने कार के कांच को लगा लिया था।

शेयर करें: