कानून व्यवस्था बनाये रखने प्रत्येक गतिविधि पर सतर्क नजर रखें कलेक्टर-एसपी ने ली प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारियों की संयुक्त बैठक

0

जबलपुर : कलेक्टर भरत यादव ने जिले में पदस्थ सभी कार्यपालिक दण्डाधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों को अयोध्या प्रकरण पर सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले के मद्देनजर अपने-अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनाये रखने हर छोटी – बड़ी गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं । श्री यादव आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों की सयुंक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे । बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री अमित सिंह भी मौजूद थे । श्री यादव ने बैठक में प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों के बीच आपस मे निरन्तर संवाद एवं समन्वय बनाये रखने जोर दिया । उन्होंने इन अधिकारियों को अपने क्षेत्र का संयुक्त रूप से लगातार भ्रमण करने और लोगों से निरन्तर सम्पर्क में रहकर फीडबैक लेते रहने की बात कही । श्री यादव ने अधिकारियों से कहा कि जनता से मिले फीडबैक पर आपस मे चर्चा करें तथा चर्चा में निकले निष्कर्ष के आधार पर जहां जैसी जरूरत हो कानून व्यवस्था बनाए रखने आवश्यक कदम उठाएं। उन्होंने अशांति फैलाने की कोशिश करने वाले और अफवाह फैलाने वाले तत्वों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए ।श्री यादव ने सोशल मीडिया पर भी नजर रखने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये हैं । उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों एवं वाट्सएप पर सद्भावना बिगाड़ने वाले संदेश पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत कार्यवाही की जाये । कलेक्टर ने होटल, लॉज, धर्मशाला और होस्टल में आने-जाने वालों पर भी निगाह रखने की हिदायत देते हुए उन्होंने प्रतिबंधात्मक आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने तथा असामाजिक तत्वों को बाउण्ड ओव्हर करने के निर्देश दिये । श्री यादव ने प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों को संवेदनशील क्षेत्रों तथा धार्मिक स्थलों पर खास तौर पर निगरानी रखने और अपने सूचना तंत्र को सक्रिय बनाने कहा । उन्होंने कहा कि अयोध्या प्रकरण के आने वाले फैसले के मद्देनजर जुलूस, सभाओं, रैली, धरना एवं प्रदर्शन के लिए अनुमति देने में भी सतर्कता बरती जाये । कलेक्टर ने कहा कि परंपरागत रूप से आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों के अलावा अन्य किसी तरह के आयोजनों की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए । उन्होंने अयोध्या प्रकरण पर आने वाले फैसले के मद्देनजर दस नवंबर के बाद आतिशबाजी को भी प्रतिबंधित करने के निर्देश दिये हैं ।पुलिस अधीक्षक श्री अमित सिंह ने इस अवसर पर प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को संवेदनशील क्षेत्रों एवं धार्मिक स्थलों के आसपास विशेष सतर्कता बरतने की हिदायत दी । उन्होंने इन अधिकारियों से कहा कि उन्हें आम लोगों खासतौर पर संवेदनशील क्षेत्रों के नागरिकों के निरंतर संपर्क में रहना होगा । श्री सिंह ने आपराधिक रिकार्ड वाले तत्वों पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने पर जोर देते हुए कहा कि अशाति पैदा करने वाले तत्वों तथा अफवाह फैलाने वालों पर तुरंत और सख्त कार्यवाही की जाये ।
पुलिस अधीक्षक ने पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में नियमित रूप से संयुक्त भ्रमण करने तथा हर छोटी-बड़ी गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि जहां तक हो सके प्रत्येक गतिविधि की वीडियो रिकार्डिंग कराई जाये और संवेदनशील क्षेत्रों पर सीसीटीव्ही कैमरे से भी नजर रखी जाये । श्री सिंह ने इस मौके पर कार्यपालिक मजिस्ट्रेटों के साथ आवश्यक संख्या में पुलिस बल को तैनात करने तथा उनके वाहनों में बलवा से निपटने सभी जरूरी संसाधन की उपलब्धता के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिये।
पुलिस अधीक्षक ने जिले में कानून व्यवस्थ बनाये रखने अधिकारियों को अभी से सुविचारित रणनीति बनाने के निर्देश भी दिये । उन्होंने कहा कि हर तरह की परिस्थितियों से निपटने के लिए लाइन ऑफ एक्शन अभी से तय कर लिया जाना चाहिए । श्री सिंह ने सभी एसडीएम को उनके क्षेत्रों के पेट्रोल पम्पों को खुले में पेट्रोल न बेचने के निर्देश जारी करने कहा है ।
श्री सिंह ने कहा कि जिले में कानून व्यवस्था एवं शांति बनाये रखने पर्याप्त संख्या में बल मौजूद है । उन्होंने संवेदनशील क्षेत्रों में बेरीकेटिंग और स्टापर लगाने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये । श्री सिंह ने पुलिस अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में प्रतिबंधात्मक आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि इन अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि अयोध्या प्रकरण में फैसला आने के बाद कोई भी पक्ष, दूसरे पक्ष की भावनायें आहत करने वाले कार्यक्रम आयोजित न करें । बैठक में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने थाना स्तर पर शांति समिति की बैठकें आयोजित करने के निर्देश भी दिये । अधिकारीद्वय ने कहा कि प्रतिबंधात्मक आदेश के उल्लंघन के मामलों में बिना किसी दबाव के तुरंत दोषी व्यक्ति के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही की जाये । इस अवसर पर प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को बाहर से आने वाले वाहनों पर भी नजर रखने के निर्देश दिये गये । बैठक में अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, अपर कलेक्टर संदीप जीआर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजीव उइके भी मौजूद थे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x