कलेक्टर ने किया खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण किसानों को हर सुविधा मुहैया कराने के निर्देश 

0

जबलपुर, कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने आज सिहोरा एवं मझौली तहसील के उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण कर किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं के उपार्जन के कार्य में तेजी लाने के निर्देश खरीदी व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को दिये हैं । श्रीमती भारद्वाज ने प्रत्येक खरीदी केन्द्र पर बारदानों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने की हिदायत भी इस मौके पर अधिकारियों को दी । कलेक्टर के उपार्जन केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर ग्रामीण डॉ. सलोनी सिडाना तथा अनुविभागीय राजस्व अधिकारी सिहोरा गौरव बेनल भी मौजूद थे ।कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों के निरीक्षण की शुरूआत पोंडा स्थित उपार्जन केन्द्र से की । उन्होंने अधिकारियों को एफ.ए.क्यू. के तय मापदंडों के अनुरूप ही किसानों से गेहूं खरीदने के निर्देश दिये । श्रीमती भारद्वाज ने कहा कि गेहूं का उपार्जन वास्तविक किसानों से ही हो यह हर हाल में अधिकारियों को सुनिश्चित करना होगा । उन्होंने कहा कि यदि खरीदी केन्द्रों पर किसानों को किसी तरह की असुविधा का सामना करना पड़ा अथवा उनसे शिकायतें मिली तो संबंधित केन्द्र प्रभारी और समिति प्रबंधकों को इसके परिणाम भुगतने होंगे । श्रीमती भारद्वाज पौंडा के बाद फनवानी मझगंवा और खितौला-खम्परिया खरीदी केन्द्र का निरीक्षण भी किया । उन्होंने खितौला-खम्परिया खरीदी केन्द्र पर माईस्चर मीटर की अनुपलब्धता पर नाराजी जाहिर की । उन्होंने सभी केन्द्रों पर तुलाई मशीनों, छन्ना, पंखा आदि के समुचित इंतजाम करने के निर्देश दिये । कलेक्टर ने इन खरीदी केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान किसानों से भी चर्चा की । उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि असुविधा से बचने के लिए एस.एम.एस. मिलने पर ही अपनी उपज खरीदी केन्द्रों पर लेकर आयें । कलेक्टर ने चर्चा के दौरान किसानों को औसत से अच्छी गुणवत्ता का ही गेहूं खरीदी केन्द्रों पर लाने की अपील भी की । उन्होंने इस दौरान किसानों से पूछा कि उन्हें खरीदी केन्द्र पर उपज लाने के एस.एम.एस. मिले है या नहीं । इस दौरान कलेक्टर ने एक किसान के मोबाईल पर आये मोबाईल पर एस.एम.एस. की जांच भी की । श्रीमती भारद्वाज ने किसानों से कहा खरीदी केन्द्रों पर गेहूं की तुलाई के लिए पैसे की कोई मांग की जाती है तो तत्काल इसकी जानकारी उन्हें फोन पर दें श्रीमती भारद्वाज ने गोदामों की मौजूदा भण्ज्ञरण क्षमता के लिहाज से पांच हजार मैट्रिक टन तक की खरीदी उपार्जन केन्द्रों पर ही करने तथा इसके बाद की खरीदी साइलो कैप में करने के निर्देश दिये । उन्होंने इस बारे में खरीदी केन्द्र में पंजीकृत किसानों को जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता बताई । श्रीमती भारद्वाज ने इसके लिए खरीदी केन्द्रों पर बैनर और प्लैक्स लगाने के निर्देश भी दिये ।
दर्शनी में निर्माणाधीन साइलो कैप का लिया जायजा:-
कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान दर्शनी में बनाये जा रहे 50 हजार मैट्रिक टन क्षमता के साइलो कैप का जायजा भी लिया । उन्होंने कैप निर्माण के कार्य को तेजी से पूरा करने की हिदायत देते हुए अधिकारियों से तीन-चार दिनों के भीतर दस हजार मैट्रिक टन तथा बाद के हर पांच-पांच दिनों में पांच-पांच हजार मैट्रिक टन गेहूं के भण्डारण की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये । श्रीमती भारद्वाज ने दर्शनी साइलो कैप के निर्माण की गुणवत्ता पर भी नजर रखने की हिदायत वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अधिकारियों को दी तथा अपेक्षित गुणवत्ता का निर्माण नहीं होने पर कान्ट्रेक्टर को नोटिस जारी करने और निर्माण पूरा होने तक भुगतान रोकने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये । कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान गेहूं उपार्जन केन्द्रों पर निगरानी के लिए नोडल अधिकारियों की अनुपस्थिति पर भी अप्रसन्नता व्यक्त की तथा पोंडा एवं खितौला-खम्परिया खरीदी केन्द्र के नोडल अधिकारी को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x