एस बी आई के मैनेजर से फोन में ठगी, कर दिए 17 लाख रुपये अन्य खाते में ट्रांसफर

0

जबलपुर :एस बी आई के बैंक मैनेजर से मोबाईल पर बात कर ठगी करते हुये अन्य खातों में 17 लाख रूपये ट्रांसफर कराने वाले के विरूद्ध पुलिस ने धोखाधडी का प्रकरण दर्ज करते हुए आरोपी की तलाश सुरु कर दी है मामला ओमती थाना क्षेत्र का है जहां पर अनुज कुमार निवासी सुलतानपुर आगरा कैंट आगरा उत्तर प्रदेश ने लिखित शिकायत की कि वह वर्तमान में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा मढोताल मे शाखा प्रबंधक के पद पर कार्यरत है दिनांक 17 जून 2019 को शाम लगभग 4.25 पर उसके मोबाईल पर एक मोबाईल नम्बर से काल आया जिसमे टू्र-कालर एप मे कॉलर का नाम रबिन खटवानी आ रहा था, काल करने वाले व्यक्ति ने अपना परिचय देते हुये बताया कि रबिन खटवानी बोल रहा हूॅ मै रबिन खटवानी मोटर्स प्रायवेट लिमिटेड का मालिक हूँ और हमारा एकाउंट आपकी शाखा में ही है तथा उन्होने मुझे मेरी नियुक्ती की बधाई देते हुये व्यवसाय वृद्धि मे सहयोग का अश्वासन देकर फोन काट दिया, उसी दिन शाम 6.00 बजे उसी नंबर से दोबारा काल आया और अपना एकाउंट नंबर बताते हुये उससे एकाउंट का बेलेंस जानना चाहा, जिससे कहा यह हम नही बता सकते क्योकि यह नियम के विपरीत है तो कहा कि किसी एंट्री का मिलान नही हो रहा है,े रिक्वेस्ट करने पर उसने एकाउंट का बेलेंस बता दिया। दिनांक 18 जून 2019 को सुबह 10.57 पर पुनः उसी नंबर से काल आया और पुनः उससे बैलेंस जानने कि रिक्वेस्ट की गयी तो उसने बेलेंस बता दिया, अगले दिन दिनांक 19 जून 2019 को उन्होने एक अर्जेंट ट्रांसफर पेमेंट करने के लिये कहा और बोले कि थोडी देर मे मिस्टर विवेक राय चेक लेकर आ जायेंगे क्योकि व्यवसायिक भुगतान है और उन्हे किन्ही विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड सकता है अतः ट्रांसफर जल्द से जल्द कर दिया जाये, इसके लिये उन्होने मुझे संबधित समस्त डिटेल उसके व्हाटसएप नंबर जानकारी भेजी, मेरे द्वारा आपत्ति किये जाने पर कि हम इस तरह फोन पर बिना चेक के अमाउंट ट्रांसफर नही कर सकते तो उन्होने कहा कि थोडी देर में ही स्टाफ चैक लेकर पहुंच जाएगा कृपया जल्द से जल्द भुगतान किया जाये । उसने बैंक के अन्य स्टाफ से पूछताछ की जिस पर स्टाफ ने बताया कि कभी कभी ऐसा होता है, उनके अर्जेंट पेमेंट होते हैं जिसे हम तत्काल कर देते है, चेक बाद मे प्राप्त हो जाता है खटवानी परिवार की अच्छी इमेज के चलते राशि रू 8,23,211/- उनके बताये हुये अकाउंट नंबर पर ट्रांसफर कर दिये है, इसके बाद उसने उसी नंबर पर काल करके चेक जल्दी भेजे जाने की डिमांड की तो उन्होने कहा कि वे इस वक्त बाहर है ऑफिस पहुंचते ही चेक भेज देंगे।दिनांक 20 जून 2019 को दोबारा उनका अन्य भुगतान के लिये फोन आना शुरू हो गया जिसकी उसके द्वारा आपत्ति किये जाने पर उन्होने मुझे मेरी शिकायत और अकांउट बंद करने की धमकी देकर कहा कि 15 मिनट मे पहुंच रहा हूँ अभी पेमेंट कर दीजिये क्योंकि उन्हे किसी व्यवसायिक परेशानी का सामना करना पड सकता है उनके द्वारा दोनो चेक पहुचाये जाने का अश्वासन पाकर उसने राशि रूपये 8,75,256/- रूपये बताये हुये एकाउंट नम्बर में आरटीजीएस के माध्यम से ट्रांसफर कर दी , शाम लगभग 5.00 बजे जब किसी अन्य नंबर से रॉबिन खटवानी का कॉल आया तो उसने उनसे चेक की डिमांड की तो उन्होने कहा कि उन्हे ऐसी कोई जानकारी नही है, तुरंत रॉबिन खटवानी से मुलाकात हुई तब यह पता चला कि कोई रॉबिन खटवानी बनकर, रॉबिन खटवानी के नाम का इस्तेमाल कर, ठगी किया है। शिकायत पर धारा 420, 419 भादवि का अपराध ंपजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक अमित सिंह द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपी की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये है। थाना प्रभारी ओमती नीरज वर्मा के नेतृत्व मे सायबर सेल की टीम को लगाया गया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x