उम्मीदवार चुनावी खर्च का हिसाब आयोग के निर्देशानुसार रखें

जबलपुर ,लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारों को चुनाव के दौरान होने वाले खर्च का हिसाब भी निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार रखना होगा । भारत निर्वाचन आयोग के मुताबिक उम्मीदवारों को स्वयं या अपने निर्वाचन व्यय एजेंट के पास चुनाव का खर्च रखना होगा । यह खर्च उम्मीदवार के नाम-निर्देशन दाखिल करने की तारीख से चुनाव परिणाम की तारीख को शामिल करते हुए रखा जाएगा। निर्वाचन आयोग ने लोकसभा चुनाव में शामिल होने वाले उम्मीदवारों के लिए खर्च की अधिकतम सीमा 70 लाख रूपए तय की है।चुनावी खर्च के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग ने लोक जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के प्रावधानों का उल्लेख किया है। प्रावधान के अनुसार राजनैतिक दल के स्टार प्रचारक अपने दल के प्रचार कार्यक्रम के लिए किसी साधन से आना-जाना करते हैं तो उसका खर्चा उम्मीदवार के चुनावी खर्च में नहीं जोड़ा जाएगा। यदि किसी राजनैतिक दल ने अपने उम्मीदवार को स्टार प्रचारक घोषित किया है तो वह अपने निर्वाचन क्षेत्र में स्टार प्रचारक नेता नहीं माना जाएगा। वह उम्मीदवार जब अपने क्षेत्र में प्रचार के दौरान जाता है तो उसका खर्चा उसके चुनावी खर्चे में शामिल किया जाएगा।
शेयर करें: