इन दो पड़ोसी मुल्क से आ रहा तबाही भरा तूफान

नई दिल्ली :भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से एक बड़ा खतरा तेजी से हमारे देश की ओर बढ़ रहा है।पत्रिका की खबर की मानें तो बुधवार शाम या रात तक इसके राजधानी दिल्ली और उत्तर भारत में दस्तक देने की संभावना है। दरअसल गर्मी से जूझ रहे लोगों को मौसम की एक और मार झेलना पड़ सकती है। ये मार है जबदस्त आंधी की। जी हं पाकिस्तान और अफगानिस्तान से उठा धूल का बड़ा गुबार अब भारत में दस्तक देने को तैयार है। धूल के गुबार के चलते सांस लेने में बड़ी मुश्किल हो सकती है। खास तौर पर अस्थमला के मरीजों को लेकर तो अलर्ट भी जारी किया गया है।दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत पर असर
पड़ोसी मुल्क से उठे धूल के इस गुबार का सीधा असर देश की राजधानी और उससे सटे इलाकों पर देखने को मिलेगा। यहां तेज धूलभरी आंधी चलने के साथ सांस लेने में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। खास बात यह है कि इस धूल भरी आंधी का असर अगले दो दिन तक बना रहेगा। यही वजह है कि मंगलवार देर शाम ही इसको लेकर चेतावनी भी जारी कर दी गई थी। वहीं केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भी संभावित सभी इलाकों में हालात पर नजर बनाए हुए हैं।

पाक-अफगानिस्तान में मचाई तबाही
केंद्र सरकार की संस्था सफर इंडिया ने इस आंधी को लेकर अलर्ट जारी किया है। संस्थान के निदेशक डॉ. गुफरान के मुताबिक एक दिन पहले इस धूल भरी आंधी ने पाकिस्तान के कराची और अफगानिकस्तान के सिस्तान इलाके में जमकर उत्पात मचाया। यहां पर कहर बरपाते हुए इसकी दिशा भारत की ओर मुड़ गई। अब इसके बुधवार देर शाम या रात तक राजधानी दिल्ली और एनसीआर में दाखिल होने की पूरी संभावना है।

गंभीर श्रेणी में पहुंचेगी हवा
इस धूल भरी आंधी का सबसे ज्यादा असर वायु गुणवत्ता पर पड़ेगा। जानकारी कों की मानें तो इसके आने से पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों की मात्रा में काफी बढ़ोतरी होगी। ऐसे में वायु में प्रदूषण का स्तर खराब श्रेणी से बढ़कर गंभीर श्रेणी तक पहुंच जाएगा। ऐसे में कई लोगों को सांस लेने में परेशानी हो सकती है। वहीं अस्थमा जैसी बीमारी से जूझ रहे लोगों पूरी सावधानी बरतने के लिए भी कहा जा रहा है।

एक दिन पहले ही बिगड़ी स्थिति
राजधानी दिल्ली में इस आंधी का असर एक दिन पहले यानी मंगलवार से ही देखने को मिल रहा था। केंद् सरकार की संस्था सफर इंडिया की माने तो 11 जून को दिल्ली में एयर इंडेक्स 387 के स्तर पर पहुंच गया जो खराब श्रेणी की वायु में आता है। यहां गौर करने वाली बात यह है कि गर्मी के मौसम में वायु की गुणवत्ता का इतना खराब होना बड़ी बात है। आमतौर पर गर्मियों में वायु की गुणवत्ता इतना खराब नहीं होती है।

शेयर करें: