आबकारी, पंजीयन, खनिज, परिवहन और पर्यटन विभागों की बैठक लेकर संभागायुक्त श्री मिश्रा ने दिए ये सख्त निर्देश

0

जबलपुर :राजस्व संग्रहण के लक्ष्य हासिल करने के निर्देश देते हुए संभागायुक्त श्री मिश्रा ने आज आबकारी, पंजीयन, खनिज, परिवहन और पर्यटन विभागों की समीक्षा बैठक ली इस दौरान संभागायुक्त रविन्द्र कुमार मिश्रा ने आबकारी, पंजीयन, खनिज, परिवहन और पर्यटन विभागों के जिला और संभाग स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक में शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुसार राजस्व एकत्र करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में संयुक्त आयुक्त अरविंद यादव भी मौजूद थे।संभागायुक्त ने कहा कि टैक्स से प्राप्त राजस्व राज्य और जनता के विकास तथा कल्याण में उपयोग होता है। अत: लक्ष्यानुसार टैक्स संग्रहण एक बड़ा उत्तरदायित्व है। सभी अधिकारी और कर्मचारी प्रसन्नता और जिम्मेदारी के साथ कर संग्रहण के लक्ष्य को प्राप्त करें।पंजीयन विभाग की समीक्षा में बताया गया कि अब तक लक्ष्य की तुलना में 60 प्रतिशत राजस्व संग्रहण हुआ है। बैठक में बिल्डर्स की बैठक बुलाकर उन्हें संपत्तियों का लम्बित पंजीयन कराने के लिए प्रेरित करने के लिए कहा गया।
बताया गया कि जबलपुर जिला पंजीयन विभाग में वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 23 हजार 691 दस्तावेजों का पंजीयन हुआ है। जबकि गत वर्ष इसी अवधि में 22 हजार 349 दस्तावेजों का पंजीयन हुआ था। बताया गया कि जबलपुर जिले में चार ई-पंजीयन, उप पंजीयक कार्यालय हैं जो कलेक्ट्रेट परिसर, अंधुवा धनवंतरी नगर, तहसील सिहोरा और तहसील पाटन में स्थित हैं। जिले में कुल 390 सेवा प्रदाताओं को ई-पंजीयन के लिए लायसेंस जारी किए गए हैं।
खनिज विभाग की समीक्षा में संभागायुक्त श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि अवैध खनिज उत्खनन को सख्ती से रोका जाए। साथ ही अवैध खनिज भण्डारण और अवैध परिवहन पाए जाने पर अवैध खनिज उत्खनन का प्रकरण भी तैयार कर कार्रवाई की जाए। अवैध परिवहन में उपयोग हो रहे वाहन की जानकारी संबंधित परिवहन अधिकारी को दी जाए। परिवहन अधिकारी वाहन के संबंध में सभी आवश्यक जांच करेंगे। संभागायुक्त ने कहा कि खनिज खदान प्रारंभ करने के आवेदनों का निराकरण कर अधिक से अधिक लोगों को खनिज उत्खनन की नियमानुसार अनुमति दी जाए ताकि अधिक और पर्याप्त राजस्व शासन को मिले वहीं आमजन को भी आर्थिक फायदा हो सके। उड़नदस्ता दल सघन जांच करे। जहां भी नियम विरूद्ध कार्रवाई पायी जाए कार्यवाही करें।
आबकारी विभाग की समीक्षा में संभागायुक्त ने कहा कि पर्यटन स्थलों में और युवाओं में ड्रग्स और नशीले पदार्थों का उपयोग होने की सूचनाएं मिल रही हैं। इसे पूर्ण रूप से रोका जाए। इस तरह शराब की अवैध बिक्री भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित हो।संभागायुक्त ने कहा कि लायसेंस के लिए आवेदनों का शीघ्र निराकरण किया जाए। संभागायुक्त ने परिवहन और पर्यटन विभागों की समीक्षा के साथ संगठित आतंक-माफिया के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बैठक में संबंधित विभागों के संभागीय एवं जिला अधिकारियों के साथ संयुक्त आयुक्त विकास अरविंद यादव भी मौजूद थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x