आदिवासी छात्र-छात्राओं को बेहतर शिक्षा पाने अच्छा वातावरण मिले श्री मरकाम

0

विश्व स्पर्धा में गोल्ड मेडल प्राप्त खिलाड़ी रागिनी मार्को सम्मानित

जबलपुर :प्रदेश के जनजातीय कार्य मंत्री ओमकार सिंह मरकाम ने कहा है कि अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं को और बेहतर शैक्षणिक वातावरण उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार सभी जरूरी इंतजाम करेगी।मंत्री श्री मरकाम जबलपुर के बैगा आवासीय विद्यालय के सभाकक्ष में आदिम जाति कल्याण विभाग के संभागीय, जिला, विकासखण्ड स्तर के अधिकारियों तथा हायर सेकेण्डरी शालाओं के प्राचार्यों की संभाग स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे।मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि अनुसूचित जनजातियों का सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक विकास राज्य सरकार की प्राथमिकता में है। जनजातियों को आर्थिक-सामाजिक शोषण से मुक्त कराकर उन्हें बेहतर अवसर प्रदान करने की दिशा में राज्य सरकार ने प्रभावी कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि बेहतर गुणवत्तायुक्त शिक्षा-सर्वांगीण उन्नति, आत्म विश्वास, स्वावलम्बन, सामाजिक प्रतिष्ठा और आर्थिक उन्नति प्रदान करती है। अत: राज्य सरकार शालाओं, आश्रम, छात्रावासों में अच्छी गुणवत्तायुक्त शिक्षा के लिए उच्च स्तरीय वातावरण निर्माण के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जनजाति शालाओं, आश्रम-छात्रावासों में इंटरनेट सुविधा उपलब्ध कराने की योजना है। अत: इन संस्थाओं को मोबाइल नेटवर्क, दूरभाष लाइन कनेक्टिविटी से जोड़ा जाए। वर्तमान में सामान्य ज्ञान में बढ़ोत्तरी, देश-दुनिया की खबरों तथा पाठ्यक्रम के व्यापक अध्ययन के लिए इंटरनेट आवश्यक है। आदिम जाति कल्याण विभाग ने विद्यार्थियों को यह सुविधा देने की योजना बनाई है।
जनजातीय कार्य मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि अच्छी शिक्षा के लिए अच्छे शालाभवन तथा उनमें आवश्यक सुविधाओं का होना जरूरी है। मंत्री श्री मरकाम ने जिलावार और शैक्षणिक संस्थावार भवनों की स्थिति, संस्था की आवश्यकता की जानकारी ली। उन्होंने जिला और विकासखण्ड अधिकारियों के साथ प्राचार्यों से भी रूबरू बातचीत कर शिक्षा के स्तर, भवन की स्थिति, खेल और अन्य आवश्यकताओं के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने मरम्मत योग्य भवनों और नए भवनों की आवश्यकताओं की सूची तैयार कराई। मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि हमारी शैक्षणिक संस्थाओं को इतना बेहतर बनाएं कि निजी शालाओं में पढ़ने वाले छात्र भी शासकीय शाला में प्रवेश पाने के लिए आतुर रहें।
खिलाड़ी सुश्री रागिनी मार्को का सम्मान-
जनजातीय कार्य मंत्री ओमकार सिंह मरकाम ने स्पेन के मेड्रिड में संपन्न विश्व तीरंदाजी युवा चैम्पियनशिप 2019 में मिक्स टीम तीरंदाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक प्राप्त कर देश को गौरवान्वित करने वाली सुश्री रागिनी मार्को को सम्मानित किया। उन्होंने सम्मान स्वरूप आदिम जाति कल्याण विभाग की ओर से सोने की चेन भेंट की। इसके साथ ही पुष्पगुच्छ और कापी पेन देकर भी सम्मानित किया।
मंत्री श्री मरकाम ने तीरंदाजी में विश्व विजेता सुश्री रागिनी मार्को की आदिम जाति कल्याण विभाग के शालाओं में अध्ययनरत, आश्रम, छात्रावासों में रह रहे बच्चों से भेंट कराई। उन्होंने शिक्षा के साथ क्रीड़ा के क्षेत्र में देश का नाम रोशन करने की प्रेरणा और प्रोत्साहन छात्र-छात्राओं को दिया। बच्चों ने सुश्री मार्को से खुलकर बात की और जिज्ञासा का समाधान पाया। इस अवसर पर खिलाड़ी सुश्री मार्को की माताजी और अन्य परिजन भी मौजूद थे।
मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि सुश्री रागिनी मार्को ने विश्वस्तरीय चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल कर जबलपुर, मध्यप्रदेश ही नहीं पूरे देश का नाम रोशन किया है। मुझे देश की इस बेटी पर नाज है, गर्व है। हम राज्य सरकार और प्रदेशवासियों की ओर से उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं। श्री मरकाम ने सुश्री मार्को को आश्वासन किया राज्य सरकार उनके साथ है। राज्य सरकार उन्हें सभी आवश्यक सहयोग प्रदान करेगी। सुश्री रागिनी मार्को ने कहा कि उन्हें खुशी है कि देश के लिए कुछ कर पाने का अवसर मिला और सफलता प्राप्त हुई। उनकी उपलब्धि महान भारत राष्ट्र को समर्पित है। उन्हें गर्व महसूस हो रहा है। ज्ञातव्य है कि रागिनी मार्को जबलपुर के विकासखण्ड कुण्डम के ग्राम छपरा करौंदी की निवासी हैं। उनके पिता जी जबलपुर में पुलिस विभाग में शासन की सेवा में पदस्थ है। रागिनी मार्को इस समय बीए प्रथम वर्ष की छात्रा है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में चार खिलाड़ियों ने और देश से 12 गर्ल्स और 12 लड़कों ने विश्व चैम्पियनशिप में भागीदारी की थी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x