अस्सी दिन बाद भी धान नहीं चढ़ी पोर्टल में तो किसानों ने एसडीएम के सामने कपड़े उतारे

जबलपुर ,धान की तौल होने के तकरीबन अस्सी दिन बाद भी धान पोर्टल में नहीं चढ़ी तो किसानों ने एसडीएम के दफ्तर के अर्धनग्न प्रदर्शन किया प्राप्त जनकारी के मुताबिक खरीदी केंद्रों में पड़ी धान इ-पोर्टल में दर्ज नहीं होने से आक्रोशित किसानों ने बुधवार को सिहोरा एसडीएम कार्यालय में अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। किसानों ने आरोप लगाया कि प्रिंसिपल सेक्रेट्री, कलेक्टर और खाद्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को ज्ञापन और परेशानियों से अवगत कराने के बाद भी उनकी धान ई पोर्टल में दर्ज नहीं हुई। आखिरकार उनका सब्र जवाब दे गया, जिसके चलते उन्हें कपड़े उतार कर प्रदर्शन करने मजबूर होना पड़ा। किसानों ने चेतावनी दी कि अगर 24 घंटे के अंदर उनकी धान का उठाव प्रशासन ने नहीं किया तो वे आगे उग्र प्रदर्शन करेंगे।

जानकारी के मुताबिक पोडा, बरगी और तलाड़ समितियों से जुड़े किसान मंगलवार को अपनी धान ई पोर्टल में दर्ज कराने की मांग को लेकर मंगलवार को कलेक्टर से मिलने गए। कलेक्टर ने किसानों को अपनी समस्या सिहोरा एसडीएम को बताने और उसका निदान करने की बात किसानों से कही थी। बुधवार दोपहर करीब 3 बजे के लगभग समितियों के किसान सिहोरा एसडीएम गौरव बैनल से मिलने पहुंचे। एसडीएम ने किसानों को बताया कि संबंधित खरीदी केंद्रों में पड़ी धान को अब मिलर के माध्यम से उठाया जाएगा, लेकिन एसडीएम ने इसकी कोई समय सीमा नहीं बताई। सिर्फ किसानों को इतना ही आश्वासन दिया कि एक-दो दिन में यह कार्रवाई पूरी हो जाएगी। लेकिन किसान 24 घंटे के अंदर धान उठाव की मांग करने लगे। आखिरकार किसान भडक़ गए और उन्होंने एसडीएम कार्यालय के बाहर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शन में किसान सुनील जैन, संतोष राय, सिद्धार्थ दुबे, सुधीर दुबे, घनश्याम दुबे, रंजीत पटेल, अर्जुन पटेल, नीरज पटेल, बलिराम राय, शंभू राय, प्रवीण सोनी, कमलेश पटेल के साथ अन्य किसान शामिल थे। किसानों ने आरोप लगाया कि सरकार उनके साथ छलावा कर रही है। खरीदी केंद्रों में किसान अपनी उपज 80 दिनों से तकवारी करने को मजबूर है, लेकिन जिम्मेदार अधिकारी न तो खरीदी केंद्रों में पड़ी धान का उठाव करवा रहे हैं और न ई पोर्टल ओपन करवा कर उसे दर्ज करवा रहे हैं।

इन खरीदी केंद्रों में पड़ी धान
जानकारी के मुताबिक 19 जनवरी को खरीदी की अंतिम तिथि के बाद किसानों को दिए गए टोकन से खरीदी गई धान तीन खरीदी केंद्रों में पड़ी हुई। पोडा खरीदी केंद्र में 149 किसानों की 11सौ क्विंटल, तलाड़ खरीदी केंद्र में 198 किसानों की 10 हजार क्विंटल और बरगी खरीदी केंद्र में सौ किसानों की 5 सौ क्विंटल धान पड़ी है।

शेयर करें: